''कोरोना की तीसरी लहर करीब'' : पर्यटन और धार्मिक यात्राओं को लेकर डॉक्‍टरों की संस्था IMA ने दी चेतावनी

IMA ने चेताया है कि कोरोना की तीसरी लहर करीब ही है. संस्‍था ने इस मुश्किल वक्‍त पर देश के विभिन्‍ने स्‍थानों में अधिकारियों और लोगों द्वारा कोरोना मामले में बरते जा रहे आत्‍मसंतोष (Complacency) पर नाराजगी और दुख जताया है. 

''कोरोना की तीसरी लहर करीब'' : पर्यटन और धार्मिक यात्राओं को लेकर डॉक्‍टरों की संस्था IMA ने दी चेतावनी

आईएमए ने कोरोना के प्रोटोकॉल की लगातार अनदेखी पर चिंता जताई है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्ली:

देश के डॉक्‍टरों की शीर्ष संस्‍था, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन  (IMA) ने केंद्र और राज्‍य सरकारों से कोविड के खिलाफ जंग में कोई 'ढिलाई' नहीं बरतने की अपील की है. संस्‍था ने चेताया है कि कोरोना की तीसरी लहर करीब ही है. संस्‍था ने इस मुश्किल वक्‍त पर देश के विभिन्‍न स्‍थानों पर अधिकारियों और लोगों द्वारा कोरोना मामले में बरते जा रहे 'आत्‍मसंतोष' (Complacency) पर नाराजगी और दुख जताया है. आईएमए ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि  मेडिकल बिरादरी और राजनीतिक नेतृत्‍व के तमाम प्रयासों की बदौलत ही देश कोरोना महामारी की घातक दूसरी लहर से उबर पाया है, ऐसे में हमें 'लापरवाह' नहीं होना चाहिए. IMA की  प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है, 'उपलब्‍ध वैश्विक साक्ष्‍यों और किसी भी महामारी के इतिहास को देखते हुए कहा जा सकता है कि तीसरी लहर अपरिहार्य और करीब है. हालांकि यह बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण है कि देश में ज्‍यादातर हिस्‍सों में सरकार और लोग, 'आत्‍मसंतुष्‍ट' (complacent) हो गए हैं और कोविड प्रोटोकॉल का पालन किए गए बड़ी संख्‍या में लोग एकत्र हो रहे हैं.'

खुफिया विभाग की होगी अब कोरोना पर नज़र, लापरवाही की नहीं होगी छूट, जानें पूरा मामला

विज्ञप्ति में कहा गया है, 'पर्यटन, धार्मिक यात्राएं और धार्मिक समारोह जरूरी हैं लेकिन इसके लिए कुछ माह इंतजार किया जा सकता है. इन स्‍थलों को खोलना और टीकाकरण के बगैर ही लोगों का वहां बड़ी पैमाने पर एकत्रित होना कोरोना की तीसरी लहर के फैलने का कारण बन सकता है.'आईएमए की ओर से कहा गया है कि इस अहम मोड़ पर हमें अगले दो-तीन माह तक कोई जोखिम मोल नहीं लेना चाहिए.


कोरोना के मामले घटने के बीच इन राज्यों ने बढ़ाई टेंशन, 58 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10% से ऊपर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि देश में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या में लगातार कमी आ रही है और कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव कम हो रहा है.भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए मामलों में कमी के साथ ठीक होने वाली मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है. जिसके चलते देश में अब तक तीन करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना को मात दे चुके हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोना से ठीक हुए लोगों की तादाद 3 करोड़ के पार हो गई है. रिकवरी रेट 97.22 प्रतिशत पर चल रहा है. पिछले 24 घंटे के दौरान करीब 40,000 मरीज ठीक हुए हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देश में संक्रमण के 37,154 नए मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान, 724 लोगों की खतरनाक वायरस की वजह से जान गई. बीते 24 घंटे में 39,649 मरीज ठीक हुए हैं जबकि अब तक कुल 3,00,14,713 लोग वायरस को मात दे चुके हैं. वहीं, कुल 408764 लोगों की वायरस की वजह से जान गई है.