दिल्ली-मुंबई की बंगाल के लिए फ्लाइट हफ्ते में सिर्फ दो दिन चलेगी, जानिए किन दिनों में उड़ेगी फ्लाइट

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने कहा कि 5 जनवरी से हफ्ते में महज दो दिन दिल्ली और मुंबई से फ्लाइट चलेंगी. ये हवाई उड़ानें हफ्ते में सोमवार और शुक्रवार को चलेंगी. 

दिल्ली-मुंबई की बंगाल के लिए फ्लाइट हफ्ते में सिर्फ दो दिन चलेगी, जानिए किन दिनों में उड़ेगी फ्लाइट

बंगाल सरकार ने दिल्ली-कोलकाता, मुंबई-कोलकाता की फ्लाइट को सीमित किया

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) सरकार ने नई दिल्ली (New Delhi) और मुंबई (Mumbai) की फ्लाइट की उड़ानों पर अंकुश लगा दिया है. इन दोनों शहरों में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. बंगाल सरकार के नए आदेश के अनुसार, दिल्ली और मुंबई से हर हफ्ते महज दो फ्लाइट ही आएंगी. सरकार के मुताबिक, कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है. ट्रैवल एजेंट का कहना है कि इस अंकुश से हवाई किराये (air fares) में तेज इजाफा होगा, क्योंकि तमाम हवाई यात्रियों के प्लान में संकट आएगा. पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने कहा कि 5 जनवरी से हफ्ते में महज दो दिन दिल्ली और मुंबई से फ्लाइट चलेंगी. ये हवाई उड़ानें हफ्ते में सोमवार और शुक्रवार को  कोलकाता (Kolkata) के लिए उड़ेंगी. 

ओमिक्रॉन का खतरा : भारत में रोजाना 60 हजार लोगों को अस्पताल में कराना पड़ सकता है भर्ती 

बंगाल के शीर्ष नौकरशाह ने कहा कि सोमवार से ब्रिटेन से आने वाली सीधी उड़ानों को भी निलंबित कर दिया गया है. ब्रिटेन में ओमिक्रॉन वैरिएंट के बेतहाशा मामले सामने आ रहे हैं. द्विवेदी ने कहा कि नई दिल्ली और मुंबई से फ्लाइट हफ्ते में सिर्फ दोदिन ही चलेंगी. यानी सोमवार और शुक्रवार को ही इन शहरों से उड़ानें बंगाल आ सकेंगी. कम जोखिम वाले देशों से आने वाले हर यात्री के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट अनिवार्य किया गया है.

अगर रैपिड एंटीजन टेस्ट में कोई पॉजिटिव पाया गया तो उसका उसी वक्त आऱटीपीसीआर (RTPCR) टेस्ट कराया जाएगा. यह नियम कायदे भी सोमवार से लागू हो जाएंगे. बंगाल सरकार ने ब्रिटेन से सीधी उड़ानों को निलंबित करने के फैसले के बारे में गुरुवार को विमानन मंत्रालय को पत्र लिखा था. कोलकाता की हर हफ्ते ब्रिटेन से एक सीधी उड़ान है, जो एय़र इंडिया द्वारा संचालित होती है.

हालांकि बंगाल सरकार के इस फैसले पर ट्रैवल एजेंट का कहना है कि दिल्ली और मुंबई जैसे महानगरों से कोलकाता की उड़ानों को सीमित कर देने से किराया काफी बढ़ सकता है. दिल्ली से कोलकाता रूट की उड़ान का किराया अभी 6 हजार रुपये के पास है, जो निश्चित तौर पर 10 हजार रुपये तक पहुंचेगा. ईस्टर्न इंडिया चेयरमैन ऑफ ट्रैवल एजेंट्स ऑफ इंडिया के प्रमुख अनिल पंजाबी ने कहा कि सरकार को इसकी बजाय घरेलू उड़ानों के हर यात्री की टेस्टिंग का फैसला करना चाहिए था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एयरपोर्ट अधिकारियों का भी कहना है कि बंगाल सरकार के इस फैसले से सिर्फ हवाई यात्रियों की मुश्किलें ही बढ़ेंगी, जो इन महानगरों से आते हैं. जिन लोगों ने आने वाले महीनों के लिए नई दिल्ली और मुंबई से टिकट बुक करा लिए हैं, उन्हें खासी परेशानी का सामना करना होगा. उन्हें या तो किसी अन्य रूट से कोलकाता आना पड़ेगा या फिर यात्रा को दोबारा शेड्यूल करना होगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)