कोलकाता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए संशोधित लागत अनुमान को कैबिनेट की मंजूरी

भारत सरकार ने कोलकाता शहर में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए संशोधित लागत अनुमान को मंजूरी दे दी है.

कोलकाता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए संशोधित लागत अनुमान को कैबिनेट की मंजूरी

रेल मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

भारत सरकार ने कोलकाता शहर में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण के लिए संशोधित लागत अनुमान को मंजूरी दे दी है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कैबिनेट की बैठक के बाद इस फैसले का ऐलान करते हुए कहा कि कोलकाता ईस्ट वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर परियोजना के तहत मेट्रो लाइन पर 8574.98 करोड़ रुपये के खर्च का अनुमान है.


इस परियोजना के तहत पश्चिम बंगाल में साल्ट लेक सेक्टर-वी से हावड़ा मैदान के बीच मेट्रो कॉरिडोर के निर्माण का प्रस्ताव है. इसकी कुल लंबाई 16.6 किलोमीटर है. यह परियोजना कोलकाता मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा कार्यान्वित की जा रही है, जो रेल मंत्रालय के तहत एक सीपीएसई है, जिसे एक विशेष प्रयोजन वाहन के रूप में स्थापित किया गया है. उनकी परियोजना को पूरा करने के लिए लक्ष्य दिसंबर, 2021 तय किया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रेल मंत्रालय की तरफ से जारी एक नोट में कहा गया है, "इस परियोजना में गंगा नदी के नीचे सुरंग जैसी अपार तकनीकी चुनौतियां शामिल हैं, जो कि भारत में किसी भी बड़ी नदी के साथ-साथ हावड़ा स्टेशन के तहत पहली परिवहन सुरंग है जो भारत के सबसे गहरे मेट्रो स्टेशनों में से एक है"... चूंकि यह गलियारा कोलकाता महानगर क्षेत्र के तीन सबसे महत्वपूर्ण हिस्सों यानी हावड़ा, कोलकाता के व्यावसायिक क्षेत्र और साल्ट लेक में नए बस्तियों को जोड़ता है, इसलिए यह कोलकाता और आस पास के हावड़ा और बिधान नगर में तेजी से परिवहन में क्रांति लाने वाला है. यह हावड़ा, सियालदह, एस्पलेनैड और साल्ट लेक सेक्टर-वी जैसे महत्वपूर्ण स्थलों को जोड़ेगा जो आईटी हब है."