मुंगेर की घटना पर बरसे तेजस्वी यादव, बोले- जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी?

तेजस्वी ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस घटना पर बोलते हुए उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील मोदी से भी सवाल किए. उन्होंने यह भी कहा कि वहां पुलिस को जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी? उन्होंने आरोप लगाया कि 'इसके लिए आदेश कहीं न कहीं से आया था.'

नई दिल्ली:

बिहार के मुंगेर में सोमवार की शाम मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई फायरिंग और एक शख्स की मौत (Munger Firing) पर मचे बवाल को लेकर राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने नीतीश कुमार की सरकार पर हमला बोला है. तेजस्वी ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस घटना पर बोलते हुए उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील मोदी से भी सवाल किए. उन्होंने यह भी कहा कि वहां पुलिस को जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी? उन्होंने आरोप लगाया कि 'इसके लिए आदेश कहीं न कहीं से आया था.'

तेजस्वी यादव ने मृतकों के परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए पूछा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी इस घटना को लेकर क्या कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 'नीतीश कुमार, वो तो राज्य के गृहमंत्री हैं, उनको तो इसकी सूचना मिली होगी ना, वो क्या कर रहे हैं. उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी जी जो बीजेपी नेता भी हैं वो बताएं कि उन्होंने एक ट्वीट के अलावा और क्या किया है. ' 

तेजस्वी ने कहा कि 'वीडियो में आपने देखा होगा कि लोगों को ढूंढकर और बिठाकार पीटा जा रहा है. हमारी संवेदना उस परिवार के साथ है, जिन्होंने अपना चिराग खोया है. लेकिन सवाल यह है कि इस घटना में पूरी तरीके से बिहार की डबल इंजन की सरकार की भूमिक रही है. और जनरल डायर बनने की अनुमति किसने दी?'

यह भी पढ़ें : बिहार चुनाव: पहला चरण तेजस्वी यादव और महागठबंधन के लिए लिटमस टेस्ट? जानें- पांच अहम बातें

तेजस्वी ने इस घटना की हाईकोर्ट की निगरानी में उच्चस्तरीय जांच कराने और दोषियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग भी उठाई. तेजस्वी ने कहा कि 'खासतौर पर वहां के जो डीएम और एसपी हैं, उनको तुरंत वहां से हटाना चाहिए. आपको पता होगा कि वहां पुलिस महकमे में, जिसकी वहां जिम्मेदारी हैं, वो जेडीयू नेता की बेटी हैं. मैं नाम नहीं लेना चाहता हूं. लेकिन ये जनरल डायर बनने का आदेश कहीं न कहीं से जरूर गया है.'

बता दें कि सोमवार की शाम मुंगेर के दीनदयाल उपाध्याय चौक पर दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों और पुलिस बल के बीच पथराव और फायरिंग हो गई थी. बता गया कि पुलिस को निशाना बनाकर लगातार पथराव किए जाने और भीड़ द्वारा फायरिंग कर शहर में अफवाह फैलाई गई और माहौल को खराब किए जाने का प्रयास किया गया. फायरिंग में एक शख्स की मौत हो गई थी, वहीं कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे.

Video: बिहार: मुंगेर की घटना को लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार को घेरा


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com