'बड़ा भाई' ISI और पाकिस्तानी सेना के गठजोड़ का मोहरा, सिद्धू पर कांग्रेस नेता का निशाना

कांग्रेस के वरिष्ठ नता मनीष तिवारी नवजोत सिंह सिद्धू पर बरसे, कहा- इमरान आईएसआई और पाकिस्तानी सेना के उस गठजोड़ का एक मोहरा है जो पंजाब में हथियार, मादक पदार्थ तथा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी भेजता है

नई दिल्ली:

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) की नई बयानबाजी पर पार्टी में फिर विवाद शुरू हो गया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद मनीष तिवारी (Manish Tiwari) ने नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा है. मनीष तिवारी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को ‘बड़ा भाई' कहने पर नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा कि इमरान भारत के लिए आईएसआई एवं पाकिस्तानी सेना के उस गठजोड़ का मोहरा हैं जो पंजाब में हथियार एवं मादक पदार्थ तथा जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी भेजता है. मनीष तिवारी ने ट्वीट किया कि ‘‘इमरान खान भले ही किसी के भाई हों, लेकिन भारत के लिए वह पाकिस्तानी तंत्र के भीतर के आईएसआई-सेना के उस गठजोड़ के मोहरा हैं जो पंजाब में ड्रोन, हथियार और मादक पदार्थ भेजता है तथा जम्मू-कश्मीर में एलओसी (वास्तविक नियंत्रण रेखा) के इस पार रोजाना आतंकवादी भेजता है.''

पंजाब के आनंदपुर साहिब से लोकसभा सदस्य मनीष तिवारी ने सवाल किया, ‘‘क्या हम पुंछ के अपने सैनिकों की शहादत इतनी जल्दी भूल गए?''

गौरतलब है कि पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें एक पाकिस्तानी अधिकारी इमरान खान की ओर से उनका स्वागत करते दिख रहे हैं और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष यह कहते हुए सुने जा रहे हैं कि खान उनके ‘‘बड़े भाई'' जैसे हैं और वह उन्हें बहुत प्यार करते हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू ने करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) फिर से खुलने पर शनिवार को खुशी जाहिर करते हुए इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और उनके पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान को दिया. उन्होंने कहा कि इन दोनों के प्रयासों से यह संभव हुआ है. सिद्धू ने यह टिप्पणी पंजाब के गुरदासपुर में एक संवाददाता सम्मेलन में पाकिस्तान के करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब की यात्रा से लौटने के बाद की. सिद्धू ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के प्रयासों से करतारपुर साहिब कॉरिडोर को फिर से खोलना संभव हुआ है."

सिद्धू ने कहा कि "मैं अनुरोध करता हूं कि यदि आप पंजाब में जीवन बदलना चाहते हैं, तो हमें सीमाएं (सीमा पार व्यापार के लिए) खोलनी चाहिए. हमें मुंद्रा बंदरगाह से क्यों जाना चाहिए, कुल 2,100 किमी? यहां से क्यों नहीं, जहां यह केवल 21 किमी (पाकिस्तान के लिए) है“ 

करतारपुर (पाकिस्तान) में पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि ''जब अमीरों के लिए कराची-मुंबई मार्ग खोला जा सकता है, तो आम पंजाबियों के लिए लाहौर-अमृतसर मार्ग क्यों नहीं खोला जा सकता? पंजाब को ननकाना साहिब के दर्शन के लिए क्यों नहीं आना चाहिए? पर्यटन को बढ़ावा क्यों नहीं दिया जाना चाहिए?'' 

सिद्धू ने यह भी कहा कि ''अगर ऐसा होता है, तो दोनों पंजाब, दोनों देश छह महीने के भीतर उतनी ही प्रगति करेंगे, जितनी 60 साल में होनी चाहिए थी. यह लोगों के जीवन को बदलने का सुनहरा अवसर है. मैं मोदी साहब और खान साहब से दरवाजे खोलने का अनुरोध करता हूं. व्यापार 275,000 करोड़ अमेरिकी डॉलर का होने की संभावना है.''

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल में गुरुवार को करतारपुर साहिब का दौरा करने वाले राज्य के कैबिनेट मंत्रियों के प्रतिनिधिमंडल से नवजोत सिंह सिद्धू का नाम शामिल नहीं होने पर पंजाब कांग्रेस में फिर से हड़कंप मच गया था.


पाकिस्तान में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के अंतिम विश्राम स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक मंदिर से जोड़ने वाला वीजा मुक्त 4.7 किलोमीटर लंबा करतारपुर कॉरिडोर बुधवार को फिर से खुल गया. यह कॉरिडोर, जो 2019 में चालू हुआ था, को COVID-19 महामारी के मद्देनजर बंद कर दिया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने सिख तीर्थ स्थल करतारपुर साहिब के लिए गलियारा खोलने में सिद्धू की भूमिका की प्रशंसा की थी.