भारत की वृद्धि दर 11% रहेगी, लेकिन कोरोना प्रकोप 'बिगाड़' सकता है आर्थिक सुधार की गति: ADB

एडीबी ने बुधवार को कहा, ‘‘व्यापक वैक्सीन अभियान के बीच 31 मार्च 2022 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था के 11 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है.’’

भारत की वृद्धि दर 11% रहेगी, लेकिन कोरोना प्रकोप 'बिगाड़' सकता है आर्थिक सुधार की गति: ADB

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • बुधवार को एशियाई विकास परिदृश्य संबंधी आंकड़े जारी किए
  • लेकिन कहा, कोविड प्रकोप के चलते जोखिम में पड़ सकती है गति
  • अगले साल भारत की जीडीपी वृद्धि दर 7% रह सकती है
नई दिल्‍ली:

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था 11 प्रतिशत की दर से बढ़ेगी, लेकिन साथ ही आगाह किया कि देश में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों से आर्थिक सुधार के लिए जोखिम पैदा हो सकते हैं. एडीबी ने बुधवार को जारी अपने एशियाई विकास परिदृश्य (एडीओ) 2021 में कहा, ‘‘व्यापक वैक्सीन अभियान के बीच 31 मार्च 2022 को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था के 11 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है.''


फिच ने 2021-22 के लिए भारत के वृद्धि दर के अनुमान को बढ़ाकर 12.8 प्रतिशत किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि एशियाई विकास बैंक ने इसके साथ ही कहा कि कि कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के चलते देश में आर्थिक सुधार की गति जोखिम में पड़ सकती है.रिपोर्ट में कहा गया कि इसके अगले साल भारत की जीडीपी वृद्धि दर सात प्रतिशत रह सकती है.रिपोर्ट में आगे कहा गया कि दक्षिण एशिया का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 9.5 प्रतिशत की दर से बढ़ सकता है, जबकि पिछले साल इसमें छह प्रतिशत की गिरावट हुई थी.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)