ओडिशा में कैंसर के 85 वर्षीय एक मरीज और उनकी पत्नी ने कोरोना को दी मात

केंद्रपाड़ा के अतिरिक्त जिला चिकित्सा अधिकारी एम एच बेग ने बताया कि सुरेंद्र पाल को कीमोथेरेपी (कैंसर संबंधी उपचार) के लिए आठ जून को कटक के क्षेत्रीय कैंसर केंद्र में भर्ती कराया गया और उनकी पत्नी उनकी देखभाल के लिए अस्पताल में थी.

ओडिशा में कैंसर के 85 वर्षीय एक मरीज और उनकी पत्नी ने कोरोना को दी मात

इस दंपति को कटक के एक कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया था

केंद्रपाड़ा:

ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में कैंसर के 85 वर्षीय एक मरीज और 78 वर्षीय उनकी पत्नी कोविड-19 संक्रमण से उबरे हैं. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी. केंद्रपाड़ा के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने बताया कि सुरेंद्र पाल और उनकी पत्नी सावित्री कोविड-19 संक्रमण से मुक्त हो गये तथा उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी. सुरेंद्र पाल को गले का कैंसर है. जिलाधिकारी ने ट्वीट किया, ‘‘...वे कइयों को इस बीमारी को हराने की प्रेरणा देते हैं. उन्हें हमारी शुभकामनाएं.''

केंद्रपाड़ा के अतिरिक्त जिला चिकित्सा अधिकारी एम एच बेग ने बताया कि सुरेंद्र पाल को कीमोथेरेपी (कैंसर संबंधी उपचार) के लिए आठ जून को कटक के क्षेत्रीय कैंसर केंद्र में भर्ती कराया गया और उनकी पत्नी उनकी देखभाल के लिए अस्पताल में थी. दोनों ही 29 जून को कोविड-19 से संक्रमित पाये गये. बेग ने बताया कि इस दंपति को कटक के एक कोविड-19 निर्धारित अस्पताल में भर्ती कराया गया, दस दिन के उपचार के बाद जब जांच में वे संक्रमण से मुक्त पाये गये तब उन्हें छुट्टी दी गयी.

उन्होंने बताया कि छुट्टी के बाद एहतियात के तौर पर उन्हें केंद्रपाड़ा प्रखंड के बगडा ग्राम पंचायत में कोविड-19 देखभाल केंद्र में रखा गया. शुक्रवार को उन्हें वहां से भी छुट्टी दे दी गयी. बेग ने कहा, ‘‘इस दंपति और खासकर सुरेंद्र पाल ने ढलती उम्र के बावजूद दृढ़ता और संकल्प के साथ इस बीमारी से संघर्ष किया. कैंसर मरीजों में वैसे भी प्रतिरोधक क्षमता कम होती है.'' उन्होंने कहा कि इस दंपति ने स्पष्ट संदेश दिया है कि कोविड-19 को मात दी जा सकती है.


Coronavirus: देश में कोरोना के मामले 10 लाख के पार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)