बंगाल हिंसा पर आया ओवैसी का बयान, बोले- लोगों की जान बचाना सरकार का पहला कर्तव्य

बंगाल में चुनावी नतीजे घोषित होने के बाद से ही राज्य में आगजनी और हिंसा की खबरें आ रही हैं. भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि उसके कई कार्यकर्ताओं की हत्या हो गई है.

बंगाल हिंसा पर आया ओवैसी का बयान, बोले- लोगों की जान बचाना सरकार का पहला कर्तव्य

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी.

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा में करीब एक दर्जन लोगों की मौत हो गई. इसको लेकर ममता बनर्जी और उनकी पार्टी टीएमसी को निशाने पर लिया जा रहा है. हिंसा को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का भी बयान आया है. उन्होंने कहा है कि अगर कोई सरकार लोगों की जान नहीं बचा पा रही है तो वह फेल है. न्यूज एजेंसी एएनआई ने उनके हवाले से लिखा है, 'जीवन का अधिकार एक मौलिक अधिकार है. लोगों के जीवन की रक्षा करना किसी भी सरकार का पहला कर्तव्य होना चाहिए. यदि वे नहीं करते हैं, तो वे अपने मौलिक कर्तव्य में असफल हो रहे हैं. हम भारत के किसी भी हिस्से में जीवन की रक्षा के लिए किसी भी सरकार की विफलता की निंदा करते हैं.'

बंगाल में चुनावी नतीजे घोषित होने के बाद से ही राज्य में आगजनी और हिंसा की खबरें आ रही हैं. भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि उसके कई कार्यकर्ताओं की हत्या हो गई है. मंगलवार को बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बताया कि इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें कॉल किया है. धनखड़ ने बताया कि PM मोदी ने फोन कर बंगाल में कानून-व्यवस्था को लेकर चिंता जताई है.

PM ने फोन कर बंगाल में कानून-व्यवस्था को लेकर जताई चिंता : नतीजों के बाद हिंसा पर बोले राज्यपाल

मंगलवार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नतीजों की घोषणा के बाद शुरू हुई हिंसा में कम से कम 12 लोगों के मारे जाने की खबर है. हिंसा को लेकर बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस में जुबानी जंग जारी है. इस बीच, गृह मंत्रालय ने बंगाल से हिंसा को लेकर रिपोर्ट तलब की है. उधर, ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने शांति बनाए रखनी की अपील की. बंगाल चुनाव में जीत दर्ज वाली तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने लोगों से शांति बनाए रखने का आह्वान किया है. 

बंगाल में चुनाव नतीजों के बाद हिंसा में अब तक 12 की मौत, ममता बनर्जी की शांति बनाए रखने की अपील


बता दें, TMC प्रमुख ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के तौर पर बुधवार राजभवन में शपथ ग्रहण करेंगी. COVID-19 महामारी के चलते शपथ ग्रहण समारोह बेहद सादगी भरा होगा. एक सरकारी अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने मंगलवार को बताया कि पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य, निवर्तमान सदन के नेता प्रतिपक्ष अब्दुल मन्नान और माकपा के वरिष्ठ नेता बिमान बोस को कार्यक्रम का निमंत्रण भेजा गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खबरों की खबर: बंगाल सरकार और केंद्र के बीच तनाव के नए हालात बन रहे