दमकल और पुलिसकर्मी समेत 7 लोग कोलकाता अग्निकांड में मारे गए, ममता बनर्जी मौके पर पहुंचीं

मुख्यमंत्री Mamata Banerjee ने कहा, यह रेलवे की संपत्ति है. रेलवे की जिम्मेदारी है. रेलवे बिल्डिंग का नक्शा तक नहीं दे पाया. मैं हादसे पर राजनीति नहीं करना चाहती, लेकिन रेलवे का कोई भी व्यक्ति घटनास्थल पर भी नहीं आया.

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता की एक बिल्डिंग की 13वीं मंजिल में भीषण आग (Kolkata Building Fire) लग गई. इसमें 7 लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में 4 अग्निशमनकर्मी शामिल हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) भी मौके पर पहुंची, उन्होंने प्रत्येक मृतक के परिवार वालों के लिए 10 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की.

गुजरात: भरूच में कैमिकल फैक्ट्री में आग लगी, दो मजदूरों की मौत

खबरों के मुताबिक, आग न्यू कोइलाघाट बिल्डिंग (New Koila Ghat Building) में लगी थी. मृतकों में एक पुलिस अधिकारी और एक रेलवे सुरक्षा बल का कर्मी भी है. यह इमारत कोलकाता के स्ट्रैंड रोड पर है. सात में से 5 लाशें इमारत के एलीवेटर पर पाई गईं. आग बुझाने में दमकल की कम से कम 25 गाड़ियां लगाई गई थीं.

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौके पर पहुंचीं. उन्होंने कहा, सात लोग मारे गए हैं. पुलिस आयुक्त का कहना है कि अभी दो और लोग लापता हैं. हादसा इस कारण हुआ, क्योंकि आग बुझाने के लिए एलीवेटर का इस्तेमाल किया गया. हम मारे गए लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा देंगे.

Delhi Fire: दिल्ली के ओखला इलाके में लगी भीषण आग, 20 से ज्यादा झोपड़ियां जलकर खाक

मुख्यमंत्री ने कहा, यह रेलवे की संपत्ति है. रेलवे की जिम्मेदारी है. रेलवे बिल्डिंग का नक्शा तक नहीं दे पाया. मैं हादसे पर राजनीति नहीं करना चाहती, लेकिन रेलवे का कोई भी व्यक्ति घटनास्थल पर भी नहीं आया. शीर्ष पुलिस अधिकारियों और अग्निशमन कर्मियों ने युद्ध स्तर पर बचाव कार्य छेड़ दिया है. बंगाल सरकार के मंत्री फिरहाद हकीम भी मौके पर पहुंचे थे.

पश्चिम बंगाल सरकार में फायर एंड इमरजेंसी सर्विस के प्रमुख ने माना कि संकरी जगह होने के कारण बिल्डिंग की उस मंजिल तक सीढ़ी का ले जा पाना मुश्किल था. हालांकि अग्निशमन कर्मी कैसे आग के बीच घिर गए, एलीवेटर का इस्तेमाल क्यों किया गया, यह कहना मुश्किल है.


न्यू कोइला घाट बिल्डिंग एक ऑफिसियल बिल्डिंग है, जिसमें ईस्टर्न रेलवे और सदर्न ईस्टर्न रेलवे के कार्यालय हैं. यह हुगली नदी के किनारे है. शाम 6.30 बजे आग की सूचना के बाद दमकल की 25 गाड़ियां मौके पर भेजी गईं. इमारत में रेलवे टिकटिंग के कई कार्यालय हैं. खबरें हैं कि बिजली बंद की जाने के कारण ऑनलाइन बुकिंग भी प्रभावित हुई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अग्निशमन अधिकारी सुजीत बोस ने कह कि घटना को लेकर वह दुखी हैं. इस बात की जांच कराई जाएगी कि आग बुझाने के लिए एलीवेटर का इस्तेमाल क्यों किया गया.