सावधान! 12 देशों में Unhealthiest हैं भारत में तैयार पैक्ड फूड और ड्रिंक्स

पैक्ड फूड और ड्रिंक्स में एडिड शुगर (added sugars), सॉल्ट और ट्रांस फैट होते हैं जोकि कई तरह की बीमारियों को बुलावा देते हैं. इनमें से कुछ हैं हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन (hypertension), हाई ब्लड शुगर (high blood sugar) और मोटाप वगैरह. यही वजह है कि ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट पैक्ड फूड खाने से मना करते हैं या कम से कम खाने की सलाह देते हैं.

सावधान! 12 देशों में Unhealthiest हैं भारत में तैयार पैक्ड फूड और ड्रिंक्स

भारतीय पैक्ड फूड में शुगर का लेवल चीन के बाद दूसरा स्थान था.

दुनिया भर के 12 देशों में बेचे जाने वाले खाद्य और पेय पदार्थों के हेल्थ फेक्टर से जुड़ा एक ग्लोबल सर्वेक्षण भारत के लिए बुरी खबर लेकर आया है. जॉर्ज इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हेल्थ द्वारा किए गए सर्वेक्षण में विश्लेषण किए गए विभिन्न खाद्य पदार्थों में भारतीय पैकेज्ड खाद्य उत्पादों (packaged food products) को सबसे कम स्थान दिया गया. पैक्ड फूड और ड्रिंक्स में एडिड शुगर (added sugars), सॉल्ट और ट्रांस फैट होते हैं जोकि कई तरह की बीमारियों को बुलावा देते हैं. इनमें से कुछ हैं हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन (hypertension), हाई ब्लड शुगर (high blood sugar) और मोटाप वगैरह. यही वजह है कि ज्यादातर हेल्थ एक्सपर्ट पैक्ड फूड खाने से मना करते हैं या कम से कम खाने की सलाह देते हैं. पैक्ड फूड में आर्टिफियल फ्लेवर और कलर शामिल होते हैं. जो सेहत पर बुरा असर डाल सकते हैं. इनमें मौजूद अतिरिक्त शक्कर, लवण और ट्रांस-वसा से उच्च रक्त शर्करा, उच्च रक्तचाप या उच्च रक्तचाप, मोटापा जैसे रोग होते हैं. सर्वेक्षण के चौंकाने वाले परिणाम दुनिया भर में मोटापे (obesity) के मामलों की बढ़ती संख्या की पृष्ठभूमि के खिलाफ आते हैं. 

High-Protein Diet: वजन कम करने के लिए भोजन में शामिल करें हाई-प्रोटीन पंचतंत्र दाल

Weight Loss: सिर्फ तीन चीजों से बनने वाला यह जूस वजन घटाने में कर सकता है आपकी मदद

एक दिन में कितना प्रोटीन लेना चाहिए? जानिए एक्सपर्ट से

सर्वेक्षण के परिणामों को एक अध्ययन रिपोर्ट में पाया किया गया. इस अध्ययन रिपोर्ट को जर्नल ओवेसिटी रिव्यू में प्रकाशित किया गया. सर्वेक्षण में दुनिया भर के 12 अलग-अलग देशों और क्षेत्रों के 400,000 से अधिक खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों की स्वास्थ्य की तुलना की गई और इनमें से, भारत से लिए गए सैंपलो को सबसे अधिक एनर्जी डेंस पाया गया. भारतीय पैक्ड फूड में और पेय पदार्थों (Indian packaged foods and drinks) में शुगर का लेवल चीन के बाद दूसरा स्थान था और उनकी पोषण सामग्री (nutritional content) सबसे कम पाई गई.

Weight Loss: सिर्फ तीन चीजों से बनने वाला यह जूस वजन घटाने में कर सकता है आपकी मदद

सर्वेक्षण में पाया गया कि भारतीय पैक खाद्य उत्पादों में प्रति 100 ग्राम 1515KJ ऊर्जा थी और उनमें प्रति 100 ग्राम में 7.3 ग्राम चीनी थी. इन सभी देशों को ऑस्ट्रेलिया के हेल्थ स्टार रेटिंग सिस्टम के अनुसार रैंक किया गया था, जो ऊर्जा, नमक, चीनी, संतृप्त वसा, प्रोटीन, कैल्शियम और फाइबर जैसे पोषक तत्वों के स्तर को देखते थे. इस रैंकिंग में यूनाइटेड किंगडम शीर्ष पर आया, जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका के उत्पादों को दूसरे स्थान पर रखा गया. अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है, "उच्च आय वाले देशों की तुलना में चीन और भारत जैसे देशों में पैकेज्ड खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ (packaged foods and beverages) लगातार कम स्वस्थ हैं. यह चिंता की बात है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


और खबरों के लिए क्लिक करें.