बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपति की अनाथ बच्ची की IG ने कराई 1 लाख की FD, बोले - 'बनाना चाहता हूं IPS...'

फर्रूखाबाद में बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपत्ति की एक साल की अनाथ बच्ची के नाम कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने एक लाख रुपये की सावधि जमा (एफडी) कराई है. उनकी एक साल की बेटी गौरी की देखभाल की जिम्मेदारी मोहित अग्रवाल ने उठा ली थी. 

बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपति की अनाथ बच्ची की IG ने कराई 1 लाख की FD, बोले - 'बनाना चाहता हूं IPS...'

बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपत्ति की अनाथ बच्ची की IG ने कराई 1 लाख की एफडी

फर्रुखाबाद में बच्चों को बंधक बनाने वाले दंपति की एक साल की अनाथ बच्ची के नाम कानपुर के IG मोहित अग्रवाल ने एक लाख रुपये की सावधि जमा (FD) कराई है. फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव करथिया में 30 जनवरी की रात बेटी की बर्थडे पार्टी के नाम पर 23 बच्चों को अपने घर बुलाकर तहखाने में 12 घंटों तक बंधक बनाकर रखने वाले अपहरणकर्ता सुभाष को पुलिस ने मार गिराया था और सभी बच्चों को सुरक्षित निकाला था.

फर्रूखाबाद बंधक प्रकरण: मारे गए आरोपियों की बेटी को IPS की वर्दी में देखना चाहते हैं IG

घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने सुभाष की पत्नी रूबी को भी पीटा था, जिससे उसकी अस्पताल में मौत हो गई थी. सुभाष और रूबी की मौत के बाद उनकी एक साल की बेटी गौरी की देखभाल की जिम्मेदारी कानपुर परिक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने उठा ली थी.

मालगाड़ी के इंजन में लगी आग, फर्रूखाबाद रेल मार्ग पर यातायात बाधित

अग्रवाल ने सोमवार को ‘भाषा' से कहा, ''प्रदेश सरकार ने फर्रुखाबाद में बच्चों को छुड़ाने वाली पुलिस टीम को 10 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की थी, जिसमें से एक लाख रुपये मुझे भी मिले थे. मैंने उस धनराशि की FD उस बच्ची गौरी के नाम बनाकर उसकी देखभाल करने वाली फर्रुखाबाद की महिला पुलिसकर्मी रजनी को दे दी है. इसके अलावा मैं बच्ची के दैनिक खर्चे भी उठा रहा हूं.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, ''मेरा सपना है कि यह बच्ची बड़ी होकर मेरी तरह IPS अधिकारी बने और इसके लिए जीवन भर मैं इस बच्ची का खर्चा उठाऊंगा.'' अग्रवाल ने कहा, ''गौरी को गोद लेने के लिये बंगलौर, दिल्ली जैसे बड़े शहरों से निसंतान दंपत्ति फर्रुखाबाद के जिला प्रोबेशन अधिकारी से पूछताछ कर रहें हैं, मीडिया में ख़बरें आने के बाद अमेरिका और लंदन से भी बच्ची को गोद लेने के लिए लोग फोन कर रहे है.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)