रहस्यमय धमाके में आतंकी संगठन TTP के बड़े कमांडर समेत 4 की मौत, Pakistan के साथ अटक गई थी शांतिवार्ता

तहरीक ए तालिबान के शीर्ष कमांडरों के मारे जाने से अफगान तालिबान की मध्यस्थता में टीटीपी (TTP) की पाकिस्तान (Pakistan) सरकार के साथ चल रही शांति वार्ता में आगे और मुश्किलें आ सकती हैं.

रहस्यमय धमाके में आतंकी संगठन TTP के बड़े कमांडर समेत 4 की मौत, Pakistan के साथ अटक गई थी शांतिवार्ता

TTP नेताओं का वाहन बारूदी सुरंग की चपेट में आया, तब वे “परामर्श” के लिये जा रहे थे (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस्लामाबाद:

पूर्वी अफगानिस्तान (Afghanistan) के पक्तिका प्रांत में एक रहस्यमय धमाके में प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) के एक शीर्ष कमांडर उमर खालिद खुरासानी (Omar Khalid Khorasani) और तीन अन्य प्रमुख आतंकवादी मारे गए. पाकिस्तानी मीडिया में आई एक खबर में सोमवार को यह जानकारी दी गई. द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' अखबार की खबर में कहा गया कि अफगान अधिकारियों व स्थानीय सूत्रों के मुताबिक, खुरासानी समेत आतंकी संगठन के वरिष्ठ कमांडरों को लेकर जा रहे वाहन को रविवार को रहस्यमय विस्फोटक उपकरण से निशाना बनाया गया.

खबर में कहा गया कि शीर्ष आतंकवादी एक बैठक के लिये प्रांत के बीरमल जिले में जा रहे थे, तभी उनका वाहन बारूदी सुरंग की चपेट में आ गया. अखबार ने एक वरिष्ठ अफगान अधिकारी के हवाले से कहा कि वाहन में सवार सभी लोगों की धमाके में मौत हो गई. अखबार ने कहा कि इनमें शीर्ष टीटीपी कमांडर जैसे अब्दुल वली मोहमंद, मुफ्ती हसन और हफीज दौलत खान शामिल थे.

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक, रविवार को जब टीटीपी नेताओं का वाहन बारूदी सुरंग की चपेट में आया, तब वे “परामर्श” के लिये जा रहे थे.

मोहमंद कबायली जिले से आने वाले खुरासानी को टीटीपी का शीर्ष कमांडर माना जाता था. आतंकी समूह टीटीपी समूचे पाकिस्तान में शरिया कानून लागू करना चाहता है. खुरासानी पर एक करोड़ रुपये का इनाम था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


TTP की तरफ से अभी भी अपने शीर्ष कमांडरों के मारे जाने की पुष्टि की जानी बाकी है. इससे अफगान तालिबान की मध्यस्थता में टीटीपी की पाकिस्तान सरकार के साथ चल रही शांतिि वार्ता में ज़रूर बाधा पड़ेगी. यह खबर ऐसे समय आई है जब पाकिस्तान और टीटीपी के बीच शांतिवार्ता अटक गई थी. टीटीपी पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा में फाटा (Federally Administered Tribal Areas) इलाके को अपने कब्जे से छोड़ने की मांग को मांगने ने तैयार नहीं हो रहा था.