बांग्लादेश की सात मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 43 लोगों की मौत, दर्जनों घायल

फायर डिपार्टमेंट के अधिकारी मोहम्मद शिहाब ने कहा कि आग ढाका (Dhaka Fire) के बेली रोड के एक फेमस बिरयानी रेस्तरां में गुरुवार रात 9 बजकर 50 बजे (1550 GMT) लगी. देखते ही देखते आग तेजी से ऊपरी मंजिलों तक फैल गई.

बांग्लादेश की सात मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 43 लोगों की मौत, दर्जनों घायल

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में लगी भीषण आग.

नई दिल्ली:

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में गुरुवार देर रात एक सात मंजिला इमारत (Bangladesh Fire) में भीषण आग लग गई, इस घटना में करीब 43 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों घायल हो गए, ये जानकारी स्वास्थ्य अधिकारियों की तरफ से दी गई है. बांग्लादेश के स्वास्थ्य मंत्री सामंत लाल सेन ने ढाका मेडिकल कॉलेज अस्पताल और पास के बर्न अस्पताल का दौरा करने के बाद न्यूज एजेंसी को बताया, "आग से अब तक 43 लोगों की मौत हो गई है." उन्होंने कहा कि शहर के मुख्य बर्न अस्पताल में करीब 40 घायल लोगों का इलाज किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-"भारतीय वैक्सीन कंपनियां पूरी दुनिया के लिए खजाना" : NDTV से बोले बिल गेट्स

बिरयानी रेस्तरां में लगी आग पूरी बिल्डिंग में फैली

फायर डिपार्टमेंट के अधिकारी मोहम्मद शिहाब ने कहा कि आग ढाका के बेली रोड के एक फेमस बिरयानी रेस्तरां में गुरुवार रात 9 बजकर 50 बजे (1550 GMT) लगी. देखते ही देखते आग तेजी से ऊपरी मंजिलों तक फैल गई, जिससे कई लोग वहां फंस गए. उन्होंने बताया कि दमकलकर्मियों ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया. फायर डिपार्टमेंट की तरफ से एक बयान में कहा गया है कि वह 75 लोगों को रेस्तरां से जीवित बाहर निकाल चुके हैं. 

 ढाका के बेली रोड पर मौजूद बिल्डिंग में खासकर रेस्तरां के साथ-साथ कई कपड़े और मोबाइल फोन की दुकानें हैं. एक रेस्तरां के मैनेजर सोहेल ने कहा, "जब हमने पहली बार सीढ़ियों से धुआं निकलते देखा, तब हम छठी मंजिल पर थे. बहुत सारे लोग ऊपर की तरफ भागने लगे. हमने बिल्डिंग से नीचे उतरने के लिए पानी के पाइप का इस्तेमाल किया. ऊपर से कूदने की वजह से हममें से कुछ लोग घायल हो गए."  

मदद के लिए मची चीख-पुकार

बता दें कि भीषण आग की वजह से अन्य लोग इमारत की छत पर ही फंस गए और लोगों से मदद की मदद की गुहार लगा रहे थे.एनवायरनमेंट साइंस के प्रोफेसर कमरुज्जमां मजूमदार ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, "अल्हम्दुलिल्लाह, हम अपनी पत्नी और बच्चों समेत सभी महिलाओं और बच्चों को नीचे भेज रहे हैं. हम सभी पुरुष छत पर हैं. फायर डिपार्टमेंट सर्विस हमारे पास है. अभी 50 लोग और नीचे आना बाकी हैं." बता दें कि बाद में कमरुज्जमां मजूमदार को भी सुरक्षित बाहर निकला लिया गया. 

साल 2021 में आग लगने से हुई थी 52 लोगों की मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि सुरक्षा नियमों की ढिलाई की वजह से बांग्लादेश में अपार्टमेंट इमारतों और फैक्ट्री परिसरों में आग लगना आम बात है. जुलाई 2021 में, एक फूड प्रोसेसिंग फैक्ट्री में आग लगने से कई बच्चों समेत करीब 52 लोगों की मौत हो गई थी.वहीं फरवरी 2019 में, ढाका के कई अपार्टमेंट ब्लॉकों में आग लगने से 70 लोगों की जान गई थी. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)