'Lead stories in Hindi Newspapaers' - 5 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | बुधवार मई 3, 2017 08:31 AM IST
    भारतीय सैनिकों पर पाकिस्तान के कायरतापूर्ण हमले की चौतरफा निंदा हो रही है. पूरे देश में आक्रोश है. आज के अखबारों की बड़ी खबर यही हैं. शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई. भारी संख्या में लोग उमड़े. सभी अखबारों ने इसी खबर को लीड बनाया है. पूरे देश से बदला लेने के लिए आवाज उठ रही हैं.
  • India | बुधवार अप्रैल 5, 2017 08:29 AM IST
    उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल की पहली बैठक में प्रदेश के दो करोड़ से अधिक किसानों को फायदा देते हुए उनका एक लाख रुपये तक का कर्जा माफ करने का अहम फैसला लिया. इस खबर को आज यानी 5 अप्रैल 2017 के लगभग सभी बड़ें अखबारों ने यूपी के किसानों के कर्ज माफी की खबर को लीड के तौर पर प्रकाशित किया है.
  • India | मंगलवार अप्रैल 4, 2017 07:40 AM IST
    मंगलवार 4 अप्रैल को दिल्ली से प्रकाशित प्रमुख हिंदी अख़बारों ने कई मुद्दों को सुर्खी बनाया है लेकिन ज्यादातर अखबारों ने सरकार द्वारा उच्च शैक्षिक संस्थाओं की रैंक सूची को प्रमुखता दी है. जनसत्ता, दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण और अमर उजाला ने इस खबर को प्रमुखता से छापा है. इस सूची में सबसे चौंकाने वाला नाम पिछले कुछ समय से कथित 'राष्ट्रविरोधी' नारों को लेकर खबरों में रहे दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) और कोलकाता का जाधवपुर विश्वविद्यालय रहा.
  • India | बुधवार जनवरी 25, 2017 08:02 AM IST
    मोदी सरकार ने चुनाव से पहले एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश की है. मंगलवार को हुई मोदी सरकार की कैबिनेट की बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. केंद्र सरकार ने फसल ऋण पर दो महीने की ब्याज को माफ कर दिया है. यह राशि 660 करोड़ रुपये बताई जा रही है. सरकार का मानना है कि नोटबंदी से रबी सीजन की बुआई किसान ठीक से नहीं कर पाए जिससे वे सहकारी बैंकों से लिए गए कर्ज को नहीं भर पाए. अब सरकार ने कुछ चुनावी चाश्नी में राहत की बौछार की है.
  • India | मंगलवार जनवरी 24, 2017 07:38 AM IST
    मंगलवार 24 जनवरी को दिल्ली से प्रकाशित प्रमुख हिंदी अख़बारों ने कई मुद्दों को सुर्खी बनाया है लेकिन ज्यादातर अखबारों ने फीस बढ़ाने के मुद्दे पर निजी स्कूलों पर की गई सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणी को प्रमुखता से छापा है. जनसत्ता, दैनिक हिंदुस्तान और अमर उजाल ने इसी खबर को अपने अखबार की लीड बनाया है. वहीं, दैनिक भास्कर ने चेन्नई में जल्लीकट्टू के दौरान हुई हिंसा को लीड खबर के तौर पर प्रकाशित किया है. दूसरी ओर दैनिक जागरण और नवभारत टाइम्स ने पूर्व सीबीआई चीफ रंजीत सिन्हा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट द्वारा जांच का आदेश दिए जाने की खबर को प्रमुखता से पहले पन्ने पर छापा है.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com