'East Ladakh China dispute' - 5 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | शनिवार फ़रवरी 27, 2021 07:11 AM IST
    विदेश मंत्री एस जयशंकर की उनके चीनी समकक्ष वांग यी के साथ गुरुवार को 75 मिनट तक टेलीफोन पर हुई बातचीत का विवरण जारी करते हुए विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि चीन से कहा गया है कि दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर पिछले साल से गंभीर असर पड़ा है. गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण सैन्य गतिरोध पिछले वर्ष 5 मई को शुरू हुआ था. मंत्रालय के अनुसार, ‘‘विदेश मंत्री ने कहा कि सीमा संबंधी प्रश्न को सुलझाने में समय लग सकता है लेकिन हिंसा होने, और शांति तथा सौहार्द बिगड़ने से संबंधों पर गंभीर असर पड़ेगा.’’
  • India | शनिवार फ़रवरी 20, 2021 11:02 AM IST
    India-China Core Commander level talks : भारत और चीन के कोर कमांडर स्तर के अधिकारियों की बातचीत शनिवार को सुबह दस बजे चुशूल के दूसरी ओर चीन के इलाके मोलडो में होगी. बातचीत का मुख्य एजेंडा गोगरा , हॉट स्प्रिंग और देपसांग इलाका होगा.
  • India | शनिवार फ़रवरी 13, 2021 07:10 AM IST
    भारत-चीन सीमा गतिरोध के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर राहुल गांधी द्वारा निशाना साधे जाने के बाद भाजपा ने शुक्रवार को उनपर जमकर पलटवार किया. पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कांग्रेस नेता के आरोपों को ‘‘झूठा’’ करार देते हुए पूछा कि क्या यह सेनाओं के पीछे हटने की प्रक्रिया का नेतृत्व कर रहे सशस्त्र बलों का अपमान नहीं है. नड्डा ने राहुल गांधी के उस संवाददाता सम्मेलन को ‘‘कांग्रेस सर्कस का नया संस्करण’’ बताया जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री पर हमला बोला था. भाजपा अध्यक्ष ने एक ट्वीट में पूछा कि वह (राहुल गांधी) झूठा दावा क्यों कर रहे हैं कि सेनाओं का पीछे हटना भारत के लिए नुकसान है? क्या यह ‘कांग्रेस-चीन एमओयू’ का हिस्सा है?
  • India | गुरुवार जनवरी 28, 2021 02:31 PM IST
    Boarder dispute with china: जयशंकर ने कहा कि भारत और चीन के संबंध दोराहे पर हैं और इस समय चुने गए विकल्पों का न केवल दोनों देशों बल्कि पूरी दुनिया पर प्रभाव पड़ेगा .चीनी अध्ययन पर 13वें अखिल भारतीय सम्मेलन को डिजिटल माध्यम से संबोधित करते हुए जयशंकर ने कहा, ‘‘ वर्ष 2020 में हुई घटनाओं ने हमारे संबंधों पर वास्तव में अप्रत्याशित दबाव बढ़ा दिया है. ’’
  • India | शनिवार जनवरी 23, 2021 07:35 AM IST
    रक्षा मंत्री ने कहा, “हमें बातचीत के माध्यम से हल निकलने को लेकर पूरा भरोसा है.” अरुणाचल प्रदेश में चीन द्वारा एक गांव बसाए जाने की रिपोर्ट को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि यह सीमा से सटा हुआ है और इस तरह के बुनियादी ढांचे को कई वर्षों के दौरान विकसित किया गया है. विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा जताए गए उस आकलन के बारे में पूछे जाने पर कि चीन के साथ द्विपक्षीय संबंध पिछले चार दशकों में न्यूनतम स्तर पर हैं और क्या चीन ने भारत का भरोसा तोड़ा है, तो सिंह ने कहा, “बिना किसी संदेह के उन्होंने हमारा भरोसा तोड़ा है.” वहीं, किसान आंदोलन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सरकार हमेशा ही बिंदुवार चर्चा पर जोर दे रही है.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com