नीति आयोग के निर्यात तैयारी सूचकांक में तमिलनाडु शीर्ष पर, गुजरात चौथे स्थान पर खिसका

नीति आयोग के सीईओ बी वी आर सुब्रमण्यम ने कहा कि देश के निर्यात में मूल रूप से राज्यों की बड़ी भूमिका है, क्योंकि निर्यात के लिए पूरा परिवेश राज्यों में होता है. 

नीति आयोग के निर्यात तैयारी सूचकांक में तमिलनाडु शीर्ष पर, गुजरात चौथे स्थान पर खिसका

नीति आयोग के सीईओ ने कहा कि देश को अपने निर्यात को व्यापक आधार देने की जरूरत है. 

नई दिल्‍ली :

नीति आयोग के निर्यात तैयारी सूचकांक 2022 में महाराष्ट्र और गुजरात को पीछे छोड़कर तमिलनाडु शीर्ष राज्य बन गया है. सूचकांक का मकसद राज्यों की निर्यात क्षमता और प्रदर्शन के लिहाज से उनकी तैयारी का आकलन करना है. आयोग ने सोमवार को जारी रिपोर्ट में कहा कि सूचकांक के तीसरे संस्करण में तमिलनाडु ने कुल 80.89 अंक के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया. महाराष्ट्र 78.20 अंक के साथ दूसरे और कर्नाटक 76.36 अंक के साथ तीसरे स्थान पर रहा. पिछले दो संस्करणों में शीर्ष पर रहा गुजरात इस बार 73.22 अंक के साथ चौथे स्थान पर चला गया. 

तटीय राज्यों की रैंकिंग में इसके बाद आंध्र प्रदेश, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और केरल का स्थान रहा. 

पहाड़ी/हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड शीर्ष स्थान पर है. इसके बाद हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, सिक्किम, नागालैंड, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम का स्थान है. 

भूमि से घिरे राज्यों में हरियाणा शीर्ष पर है. इसके बाद तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, पंजाब, मध्य प्रदेश और राजस्थान का स्थान रहा.

केंद्र शासित प्रदेशों और छोटे राज्यों की श्रेणी में गोवा को पहला स्थान मिला. इसके बाद जम्मू-कश्मीर, दिल्ली, अंडमान और निकोबार और लद्दाख का स्थान था. 

इस सूचकांक के लिए राज्यों का मूल्यांकन चार मुख्य स्तंभों पर आधारित है- नीति, व्यापार परिवेश, निर्यात माहौल और निर्यात प्रदर्शन. 

नीति आयोग के सीईओ बी वी आर सुब्रमण्यम ने कहा कि देश के निर्यात में मूल रूप से राज्यों की बड़ी भूमिका है, क्योंकि निर्यात के लिए पूरा परिवेश राज्यों में होता है. 

उन्होंने यह भी कहा कि देश को अपने निर्यात को व्यापक आधार देने की जरूरत है. 

रिपोर्ट में कहा गया कि निर्यात के लिहाज से गुजरात का जामनगर देश का शीर्ष जिला है. इसके बाद सूरत, मुंबई, पुणे, भरूच, कांचीपुरम, अहमदाबाद, गौतम बुद्ध नगर और बेंगलुरु का स्थान रहा. 

ये भी पढ़ें :

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

* वर्ष 2015-16 से 2019-21 के बीच रिकॉर्ड 13.5 करोड़ बहुआयामी गरीबी से हुए मुक्त
* निर्वाचन आयोग ने 5 चुनावी राज्यों में अधिकारियों के ट्रांसफर के दिए निर्देश
* पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक, 'विकसित भारत' बनाने पर दिया गया जोर



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)