रेमेडिसिविर कोरोना मरीजों को नहीं मिल पा रही, ऐसे जानिए देश में कहां उपलब्ध है ये दवा

ऐसी कुछ जगहें हैं, जहां आप चेक कर सकते हैं कि ये दवा उपलब्ध है या नहीं. देश की बड़ी फार्मा कंपनी रेड्डी लैबोरेटरीज ( Dr Reddy's Laboratories) की ऑफिशियल वेबसाइट ने रेमेडिसिविर और फेविपिराविर (Favipiravir) की उपलब्धता को लेकर सूची जारी की है.

रेमेडिसिविर कोरोना मरीजों को नहीं मिल पा रही, ऐसे जानिए देश में कहां उपलब्ध है ये दवा

COVID-19 के गंभीर होते मरीजों के लिए Remdesivir दवा बेहद असरकारक मानी जाती है

नई दिल्ली:

कोरोना के मरीजों की जान बचाने में अहम मानी जाने वाली रेमेडेसिविर (Remdesivir) दवा की किल्लत कई राज्यों में साफ महसूस की जा रही है. डॉक्टरों के परामर्श वाले पर्चे लिए तीमारदार अस्पताल दर अस्पताल भटक रहे हैं, लेकिन उन्हें खाली हाथ ही मायूस लौटना पड़ रहा है. हालांकि ऐसी कुछ जगहें हैं, जहां आप चेक कर सकते हैं कि ये दवा उपलब्ध है या नहीं. देश की बड़ी फार्मा कंपनी रेड्डी लैबोरेटरीज ( Dr Reddy's Laboratories) की ऑफिशियल वेबसाइट ने रेमेडिसिविर और फेविपिराविर (Favipiravir) की तमाम जगहों पर उपलब्धता को लेकर सूची जारी की है.


ये दवाएं कोरोना के मरीजों के इलाज में बेहद मददगार हैं.रेमेडिसिविर इंजेक्शन के जरिये ली जाने वाली दवा है, जो कोविड-19 मरीजों की जिंदगी बचाने में बेहद प्रभावी है. कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के कारण इस एंटीवायरल ड्रग (antiviral drug) की कमी साफ देखी जा रही है.वेबसाइट readytofightcovid.in में उन सभी शहरों के अस्पतालों और दवा की दुकानों के नाम हैंस जहां ये दवाएं उपलब्ध हैं. उन दुकानों के फोन नंबर और पते भी यहां दिए गए हैं. इसमें एक 24/7  हेल्पलाइन नंबर (helpline number) भी हैं, जो कोविड से जुड़ी दवाओं से जुड़े तमाम सवालों के जवाब देते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वेबसाइट का उद्देश्य उन स्थानीय वितरकों के नाम और पते उपलब्ध कराना है, जो रेड्डी लैबोरेटरीज की कोविड की दवाओं और वैक्सीन की बिक्री और वितरण से जुड़े हुए हैं. केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा था कि रेमेडेसिविर की कमी को देखते हुए देश के विभिन्न हिस्सों में इसका उत्पादन बढ़ाया जाएगा, ताकि किल्लत दूर करने के साथ इसकी कीमतों पर भी काबू पाया जा सके. महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश में रेमेडेसिविर का संकट सबसे ज्यादा गहरा है. कोविड-19 के बढ़ते मामलों (Covid spike in India) के कारण इन राज्यों में यह संकट और गंभीर हो गया है.