सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी ने कहा-डिप्रेशन में हूं, UP भेजे जाने पर जान का खतरा बताया

मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर यूपी सरकार की उसे पंजाब की जेल से उत्तर प्रदेश ट्रांसफर करने की अर्जी का विरोध किया है.

सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी ने कहा-डिप्रेशन में हूं, UP भेजे जाने पर जान का खतरा बताया

पंजाब की रोपड़ जिले में बंद है मुख्तार अंसारी

नई दिल्ली:

पंजाब की रोपड़ जिले की जेल में बंद यूपी के विधायक और माफिया डॉन मुख्तार अंसारी (Mafia don Mukhtar Ansari) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)  में हलफनामा दाखिल कर कहा है कि वह डिप्रेशन (Depression) से जूझ रहे हैं. अंसारी ने पंजाब (Punjab) से यूपी की जेल भेजे जाने पर जान का खतरा भी बताया है. 

मुख्तार अंसारी ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर ये बात कही है. उसने यूपी सरकार की पंजाब की जेल से उत्तर प्रदेश ट्रांसफर करने की अर्जी का विरोध किया है. अंसारी ने हलफनामे में कहा कि वो एक ऐसे परिवार का हिस्सा है, जिसने स्वतंत्रता आंदोलन में अपार योगदान दिया. साथ ही कहा है कि उनके परिवार के हामिद अंसारी भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हैं, शौकतुल्ला अंसारी ओडिशा के पूर्व राज्यपाल रहे हैं.


जस्टिस आसिफ अंसारी इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायाधीश रहे हैं. इसके अलावा रिश्ते में उनके दादा लगने  वाले शख्स को भारतीय सेना ने महावीर चक्र दिया था जब उन्होंने भारत पाक सीमा पर अपना बलिदान दिया था. अंसारी ने कहा है कि वो तीन बार जेल से चुनाव लड़कर जीत चुके हैं. अंसारी का आरोप है कि वो मऊ से बीएसपी विधायक हैं और यूपी सरकार राजनीतिक बदले की वजह से उसे राज्य की जेल में स्थानांतरित कराना चाहती है. यूपी में उसकी जान को खतरा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अंसारी ने कहा है कि वो खुद भी उसके खिलाफ मुकदमों का जल्द ट्रायल चाहता है ताकि सच सामने आ सके. उसने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)  वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए यूपी की अदालत में पेशी की अनुमति दे. मुख्तार अंसानी ने अपनी बीमारी का हवाला देते हुए कहा है कि वो डिप्रेशन में है. शीर्ष अदालत ने UP सरकार से पंजाब सरकार के हलफनामे पर जवाब भी मांगा है.