नकली वर्दी पहन खुद को बताता था आर्मी अफसर, पहले ISI के हनी ट्रैप में फंसा, अब पुलिस ने दबोचा

गिरफ्तार शख्स के पास से बरामद मोबाइल नंबर से सैकड़ों विदेशी नंबर भी मिले हैं. व्हाट्सएप के जरिये वह उन सभी के संपर्क में था. मोबाइल की जांच करने पर पता चला कि आरोपी ने अंतरराष्ट्रीय नंबरों से भी वीडियो कॉल की थी.

नकली वर्दी पहन खुद को बताता था आर्मी अफसर, पहले ISI के हनी ट्रैप में फंसा, अब पुलिस ने दबोचा

खुद को सेना में कैप्टन शेखर बताने वाले गिरफ्तार शख्स का नाम दिलीप है.

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो खुद को भारतीय सेना में अफसर बताता था. इसके लिए वह सेना की नकली वर्दी भी पहनता था. खुद को सेना में कैप्टन शेखर बताने वाले शख्स का नाम दिलीप है. वह खुद ही पाकिस्तानी इंटेलिजेंस ISI के हनी ट्रैप में फंस चुका था. उसके मोबाइल फोन से पाकिस्तान के कई नंबर्स मिले हैं. नकली अफसर करीब 100 व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ा था. देशी-विदेशी लड़कियों से दोस्ती और उनसे रिश्ते बनाने की नीयत से दिलीप खुद को सेना में कैप्टन शेखर बन कर उन्हें इम्प्रेस करता था.

दक्षिण दिल्ली पुलिस ने दिलीप के पास से सेना की नकली वर्दी, सेना अधिकारी का फर्जी आईडी कार्ड और 1 मोबाइल फोन भी बरामद किया है. दिल्ली पुलिस को शुक्रवार (18 जून) को दोपहर करीब 3 बजे सूचना मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने रणनीति बनाकर नकली सेना अधिकारी को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार शख्स दिलीप, उत्तम नगर के एक स्कूल मे सुरक्षा गार्ड की जॉब करता है. 

दिल्ली में बच्चे को बेचकर पुलिस में की चोरी की रिपोर्ट, कानपुर से पकड़े गए लोग

गिरफ्तार शख्स के पास से बरामद मोबाइल नंबर से सैकड़ों विदेशी नंबर भी मिले हैं. व्हाट्सएप के जरिये वह उन सभी के संपर्क में था. मोबाइल की जांच करने पर पता चला कि आरोपी ने अंतरराष्ट्रीय नंबरों से भी वीडियो कॉल की थी. पूछताछ में आरोपी ने  खुलासा किया कि वह सेना का अधिकारी होने के बहाने सोशल मीडिया पर महिलाओं को आकर्षित करने के लिए भारतीय सेना के कप्तान शेखर के रूप में खुद को पेश करता था. गिरफ्तारी के ऐन पहले भी आरोपी ने  डेटिंग के लिए ग्रेटर कैलाश में एक लड़की को मिलने के लिए बुलाया था, तभी वह पकड़ा गया.


जमानत के बाद जेल से रिहा हुए छात्र एक्टिविस्ट, कहा- ''वो जेल की धमकी देकर हमें डरा नहीं पाएंगे''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आरोपी ने यह भी खुलासा किया कि उसने कुछ विदेशी नागरिकों के साथ भी बातचीत की है और उनके साथ कुछ वीडियो और तस्वीरें भी साझा की हैं. आरोपी ने जिन इंटरनेशनल नंबरों पर बात की या जिन इंटनेशनल नंबर्स से आरोपी के पास फोन आए हैं, उनकी सघनता से जांच की जा रही है. इधर, गिरफ्तार नकली आर्मी कैप्टन से पूछताछ करने के लिए मिलेट्री इंटेलीजेंस, स्पेशल सेल और IB के अधिकाररी ग्रेटर कैलाश पुलिस स्टेशन पहुंचे. ये अधिकारी पाकिस्तान ISI हनी ट्रैप से जुड़ी जानकारी लेने की कोशिश कर रहे हैं.