महाराष्ट्र : वाशिम में मंदिर के पास भीड़ जमा होने पर 8 से 10 हजार लोगों के खिलाफ FIR!

महाराष्ट्र के वाशिम जिले में स्थित पोहरादेवी मंदिर के पास मंगलवार को भारी भीड़ जमा होने की सूचना को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोविड-19 महामारी के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई का आदेश दिए थे.

महाराष्ट्र : वाशिम में मंदिर के पास भीड़ जमा होने पर 8 से 10 हजार लोगों के खिलाफ FIR!

प्रतिकात्मक तस्वीर.

पूजा चव्हाण खुदकुशी मामले में लीक ऑडियो से विवादों में आये महाराष्ट्र के वन मंत्री संजय राठौड़ ने कल पोहरा देवी मंदिर में दर्शन किए. इस दौरान उनके साथ 8 से 10 हजार की भीड़ आयी थी. भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा था. कोरोना के संकट में भी इस तरहं से भीड़ जमा करने की मीडिया में आई ख़बरों से नाराज मुख्यमंत्री उद्ध्व ठाकरे ने नाराजगी जताते हुए कार्रवाई का आदेश दिया था. मुख्यमंत्री के आदेश के बाद कल रात वाशिम पुलिस ने 8 से 10 हजार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

बता दें, महाराष्ट्र के वाशिम जिले में स्थित पोहरादेवी मंदिर के पास मंगलवार को भारी भीड़ जमा होने की सूचना को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कोविड-19 महामारी के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई का आदेश दिए थे. आधिकारिक बयान के अनुसार, ठाकरे ने वाशिम जिले के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से इस संबंध में रिपोर्ट तलब की थी.

कोरोना के मामले बढ़े तो केंद्र ने 5 राज्यों को लिखी चिट्ठी, कहा- इन लोगों को फौरन लगाएं वैक्सीन

शिवसेना नेता संजय राठौड़ के समर्थक आज बड़ी संख्या में मंदिर के पास एकत्र हुए थे. पुणे में 23 साल की युवती की मौत के मामले से अपना नाम जुड़ने के बाद राठौड़ कुछ दिन से सार्वजनिक तौर पर नहीं दिख रहे थे. कई दिनों बाद वह आज मंदिर में पूजा करने गए थे. राठौड़ ने युवती की मौत के मामले में संलिप्तता संबंधी आरोपों से साफ इंकार किया है.

दिल्ली कोरोना अपडेट : बीते 24 घंटे के भीतर COVID-19 के 145 नए मामले, दो की मौत

बयान के अनुसार, ठाकरे ने इस बात पर जोर दिया कि कोविड-19 महामारी से जुड़े नियम सभी के लिए समान हैं और उन्होंने वाशिम के कलेक्टर तथा पुलिस प्रमुख से मंदिर के पास जमा भीड़ के संबंध में रिपोर्ट मांगी है. ठाकरे शिवसेना के अध्यक्ष भी हैं. बयान के अनुसार, उन्होंने जिला प्रशासन से नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने को कहा है. (इनपुट से भाषा भी)

Video : अफवाह बनाम हकीकत: भारत में कोरोना वैक्सीनेशन की सुस्त रफ्तार? जानें क्यों उठे सवाल


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com