दिल्ली एयरपोर्ट पर 5 बांग्लादेशी समेत 6 जालसाज गिरफ्तार, फर्जी तरीके से भेजते थे विदेशों में

11 सितंबर को आईजीआई एयरपोर्ट पर सर्बिया जाने वाले 3 लोग एक साथ जा रहे थे, तभी उनको सीआईएसएफ ने चेकिंग के लिए रोका. चेकिंग के दौरान उनके पास मिले पासपोर्ट चेक किए गए तो उनके पास जाली पासपोर्ट बरामद हुए.

दिल्ली एयरपोर्ट पर 5 बांग्लादेशी समेत 6 जालसाज गिरफ्तार, फर्जी तरीके से भेजते थे विदेशों में

दिल्ली पुलिस ने 5 बांग्लादेशी समेत 6 जालसाजों को गिरफ्तार किया है.

नई दिल्ली:

दिल्ली आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस ने 5 बांग्लादेशियों समेत 6 जालसाजों को गिरफ्तार किया है. उनके पास इंडियन और बांग्लादेशी पासपोर्ट बरामद हुए हैं. ये फर्जी दस्तावेजों के सहारे ओरिजिनल पासपोर्ट बनाकर बांग्लादेशियों को भारत से बाहर विदेशों में भेजते थे. इनके पास बांग्लादेशी और इंडियन पासपोर्ट भी बरामद हुए हैं. 11 सितंबर को आईजीआई एयरपोर्ट पर सर्बिया जाने वाले 3 लोग एक साथ जा रहे थे, तभी उनको सीआईएसएफ ने चेकिंग के लिए रोका. चेकिंग के दौरान उनके पास मिले पासपोर्ट चेक किए गए तो उनके पास जाली पासपोर्ट बरामद हुए.


इनसे आगे की पूछताछ के बाद इनके तीन साथियों को गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से 27 पासपोर्ट बरामद हुए हैं. ये सभी इंडिया, बांग्लादेश और नेपाल के पासपोर्ट हैं, 15 स्टाम्प भी मिली है, जो अलग-अलग देशों की है. इसमें इंडोनेशिया, श्रीलंका, बांग्लादेश,  सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया का वीजा है. यह गैंग बांग्लादेश से जो बाहर जाना चाहते हैं. उन्हें पहले मेडिकल वीजा के तहत भारत में प्रवेश करवाते हैं, उसके बाद फर्जी दस्तावेजों के सहारे उनके इंडियन पासपोर्ट बनाकर उन्हें आगे भेजते हैं. इस गैंग का सरगना अताउल तालुकदार है, जिसके पास बांग्लादेशी पासपोर्ट भी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तालुकदार ने एक कंस्ट्रक्शन कंपनी खोली है, जो बाहर से बांग्लादेशियों को बुलाकर उन्हें यहां से इसी कंपनी के नाम पर भेजता था. गैंग के सभी सदस्यों को टास्क सौंपे गए थे. गैंग किसी एजेंसी के साथ संपर्क बनाकर लोगों को बाहर भिजवाने का काम करता था, तो कोई बांग्लादेशी को कोलकाता लेकर जाता था और उनके फर्जी दस्तावेज बनाकर लाता था. कोई बॉर्डर के पास मेडिकल वीजा के नाम पर कागज मुहैया कराते थे. विदेश भेजने के नाम पर 2 से ढाई लाख की रकम ली जाती थी, जो पैसेंजर थे उन्होंने वाजिब वीजा लगवाया था. लेकिन सब इसी गैंग ने मुहैया करवाए थे. पुलिस से बचने के लिए ये पासपोर्ट पर कई अलग-अलग देशों की मुहर भी लगवाते थे, ताकि सुरक्षा एजेंसियां ज्यादा पूछताछ न करे. दिल्ली पुलिस अब इनके पुराने रिकॉर्ड खंगाल रही है कि अब तक ये गैंग कितने बांग्लादेशियों को विदेश भेज चुका है.