क्‍यों आजकल हर कोई है कीटो डाइट का दीवाना, जानें क्‍या है ये

वजन कम करने वालों में आजकल एक शब्‍द बहुत चलन में है. वह है कीटो डाइट... हर कोई वजन कम करने के लिए आजकल कीटो डाइट की बात करता है.‍

क्‍यों आजकल हर कोई है कीटो डाइट का दीवाना, जानें क्‍या है ये

जल्द वजन घटाना है तो अपनाएं कीटो डाइट

वजन कम करने वालों में आजकल एक शब्‍द बहुत चलन में है. वह है कीटो डाइट... हर कोई वजन कम करने के लिए आजकल कीटो डाइट की बात करता है.‍ बॉलीवुड के सितारे भी इसे जमकर फॉलो करते नजर आए. इसके साथ ही कीटो से जुड़े कई भ्रांतियां भी शुरू हो गई. तो चलिए समझते हैं कि आखि‍र क्या है कीटो डाइट और कैसे काम करती है यह...

कीटो डाइट कम कार्बोहाइड्रेट की डाइट के तौर पर जानी जाती है. इस डाइट की मदद से शरीर ऊर्जा के उत्पादन के लिए लिवर में कीटोन उत्पन्न करता है. इस डाइट प्लान को कीटोजेनिक डाइट, लो कार्ब डाइट, फैट डाइट जैसे नामों से भी जाना जाता है. साधारण तौर पर जब आप ज्यादा कार्बोहाइड्रेट का खाना खाते हैं, तो आपका शरीर ग्लूकोज और इंसुलिन का उत्पादन करता है और चूंकि आपका शरीर ग्लूकोज को प्राथमिक ऊर्जा के रूप में इस्तेमाल करता है तो इसलिए आपके खाने में मौजूद फैट आपका शरीर संग्रहित कर लेता है.

वहीं दूसरी ओर कीटो डाइट में कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करके फैट से ऊर्जा का उत्पादन किया जाता है. इस प्रक्रिया को कीटोसिस कहा जाता है. कीटो डाइट में फैट का सेवन ज़्यादा, प्रोटीन का मीडियम और कार्बोहाइड्रेट का कम सेवन किया जाता है. इस डाइट में लगभग 70 प्रतिशत फैट, 25 प्रतिशत प्रोटीन, और 5 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट होना चाहिए.
 

क्या खा सकते हैं कीटो डाइट में

आप अगर मांसाहारी हैं तो कीटो डाइट में मछली, मटन, चिकन और अंडे का सेवन कर सकते हैं. वहीं शाकाहारी लोगों को पत्तेदार साग जैसे पालक और मेथी का खूब सेवन करना चाहिए. वहीं ब्रोकली, फूलगोभी को भी अपने डाइट चार्ट में ज़रूर शामिल करना चाहिए. इसके अलावा फैट के लिए पनीर, उच्च वसायुक्त क्रीम और मक्खन का इस्तेमाल करना चाहिए. वहीं अखरोट, सूरजमुखी के बीच, नारियल तेल, उच्च वसा वाले सलाद का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद होता है.

क्या न खाएं. 

कीटो डाइट में गेहूं, मक्का, चावल अनाज आदि को न खाने की सलाह दी जाती है. वहीं चीनी का इस्तेमाल भी बहुत कम मात्रा में करना चाहिए. फलों में सेब, केले और नारंगी का सेवन नहीं करना चाहिए. वहीं आलू और जिमीकंद का इस्तेमाल नहीं करने के लिए भी कहा जाता है.

कीटोजेनेकि डाइट के ये हैं फायदे
 

कीटोजेनिक डाइट मुख्य रूप से वजन घटाने में सबसे ज्यादा कारगर साबित होती है. इसमें आपका शरीर ऊर्जा के स्रोत के रूप में फैट का इस्तेमाल करता है. इस वजह से आपके शरीर का वजन घटता है. सोनाक्षी सिन्हा और अर्जुन कपूर जैसे सेलिब्रिटीज ने वजन घटाने के लिए कीटो डाइट का सहारा लिया.
 

मधुमेह में है फायदेमंद

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कीटो डाइट में शुगर की मात्रा कम होने की वजह से ये मधुमेह में बेहद लाभकारी है और आपके शरीर के शुगर लेवर को नियंत्रित करके रखता है. शोध बताते हैं कि कम कैलोरी आहार की तुलता में मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए कीटोजेनिक आहार अधिक प्रभावी तरीका है.