Karwa Chauth 2022: क्या शुक्र ग्रह के अस्त होने से करवा चौथ व्रत पर पड़ेगा असर, यहां जानें सभी जरूरी बातें

Karwa Chauth 2022: करवा चौथ का व्रत इस साल शुक्र और बृहस्पति ग्रह के अस्त होने के दौरान पड़ रहा है. ऐसे में इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति है कि क्या इस दौरान व्रत रखना उचित होगा. आइए जानते हैं खास बातें.

Karwa Chauth 2022: क्या शुक्र ग्रह  के अस्त होने से करवा चौथ व्रत पर पड़ेगा असर, यहां जानें सभी जरूरी बातें

Karwa Chauth 2022: करवा चौथ का व्रत अखंड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए रखा जाता है.

खास बातें

  • 13 अक्टूबर को है करवा चौथ.
  • सुहागिन महिलाओं के लिए खास होता है.
  • इस बार शुक्र अस्त के दौरान पड़ रहा करवा चौथ.

Karwa Chauth 2022: करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर, 2022 को पड़ने जा रहा है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस साल करवा चौथ (Karwa Chauth 2022) का व्रत शुक्र ग्रह के अस्त होने के बीच रखा जाएगा. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, वैवाहिक जीवन, ऐश्वर्य और सुख का कारक ग्रह शुक्र 01 अक्टूबर से अस्त है. शुक्र देव आगामी 20 नवंबर तक अस्त रहने वाले हैं. ऐसे में लोगों के बीच में इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति है कि क्या करवा चौथ का व्रत शुक्र अस्त (Shukra Ast) के दौरान रखना उचित होगा. दरअसल शुक्र के अस्त होने से धन, प्रेम, सुख और वैवाहिक जीवन पर असर पड़ता है. इसके अलावा गुरु ग्रह भी अस्त हैं. मान्यता है कि शुक्र और बृहस्पति के अस्त होने पर मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं. ऐसे में जानते हैं कि जो कोई पहली बार करवा चौथ का व्रत रखेंगी उनके लिए इस बार करवा चौथ का व्रत (Karwa Chauth Vrat) रखना उचित होगा या नहीं.

इस बार करवा चौथ व्रत का उद्यापन होगा निषेध | Karwa Chauth Vrat Udyapan

करवा चौथ का व्रत कुछ महिलाएं 16 साल तक रखती हैं, वहीं कुछ महिलाएं जीवन भर इस व्रत को रखती हैं. ऐसे में जो महिलाएं इस बार करवा चौथ व्रत के उद्यापन के बारे में सोच रही हैं तो उन्हें शुक्र अस्त होने के दौरान व्रत का उद्यापन नहीं करना चाहिए.

Kartik Maas 2022: कार्तिक मास में तुलसी पूजा का है खास महत्व, इन कार्यों से प्रसन्न होती है मां लक्ष्मी

करवा चौथ व्रत का पारण कब करें | Karwa Chauth Vrat Parana Time

हिंदू पंचांग के अनुसार करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को रख जाता है. इस बार कार्तिक कृष्ण चतुर्थी तिथि की शुरुआत 13 अक्टूबर को रात 1 बजकर 59 मिनट से शुरू हो रही है. वहीं चतुर्थी तिथि का समापन 14 अक्टूबर को तड़के सुबह 3 बजकर 08 मिनट पर होगा. ऐसे में करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर को रखा जाएगा. करवा चौथ के दिन पूजा के लिए शुभ मुहूर्त शाम 5 बजकर 54 मिनट से 7 बजकर 09 मिनट तक है. करवा चौथ के दिन चंद्रोदय रात 8 बजकर 09 मिनट पर है. ऐसे में चंद्रोदय के बाद करवा चौथ व्रत का पारण करना सही रहेगा. 

इसलिए रखा जाता है करवा चौथ का व्रत | Karwa Chauth Vrat Importance

करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और कुशलता के लिए रखती हैं. वहीं जिनकी शादी होने वाली होती है, ऐसी कुंवारी कन्याएं भी सुयोग्य वर की प्राप्ति की कामना से करवा चौथ का व्रत रखती हैं. मान्यता है कि करवा चौथ का व्रत विधिपूर्वक रखने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है.

Diwali 2022 Vastu Tips: धनतेरस और दिवाली पहले जरूर करें ये काम, हमेशा घर में होगा मां लक्ष्मी का वास!

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

दशहरे को लेकर तैयार है मैसूर का अम्बा विलास महल, एक लाख बल्वों से जगमगा रहा है राजमहल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com