पहलवान की मौत के मामले में सुशील कुमार और छह अन्य के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

छत्रसाल स्टेडियम मामला : 23 साल के सागर और उसके दो दोस्तों की कथित तौर पर कुछ पहलवानों ने बुरी तरह पिटाई की थी, जिसमें उसकी मौत हो गई थी

पहलवान की मौत के मामले में सुशील कुमार और छह अन्य के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी

पहलवान सुशील कुमार (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

दिल्ली की एक अदालत ने छत्रसाल स्टेडियम विवाद मामले में दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) और छह अन्य लोगों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी (Non-bailable warrant) किए हैं. इस विवाद में एक पहलवान की मौत हो गई थी. पुलिस ने इस बात की जानकारी दी. इससे कुछ दिन पहले इसी मामले में सुशील कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था.

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, '' हमने अदालत से पहलवान सुशील कुमार और अन्य छह लोगों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने का अनुरोध किया था जिसे स्वीकार कर लिया गया है और इन सभी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए गए हैं.'' पिछले रविवार की शाम एक लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया था. पुलिस ने इस मामले में पीड़ितों के बयान पहले ही दर्ज कर लिए हैं. यह झगड़ा दिल्ली के माडल टाउन इलाके में एक फ्लैट खाली करने को लेकर हुआ था.

इससे पहले एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुशील कुमार का नाम भी प्राथमिकी में दर्ज है और वह फरार है, उसे पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं. साथ ही कहा कि सुशील को पकड़ने के लिए दिल्ली-एनसीआर और पड़ोसी राज्यों में छापे भी मारे जा रहे हैं. पीड़ितों का आरोप है कि झगड़े के समय सुशील वहां मौजूद था.


दरअसल, पिछले मंगलवार को उत्तरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में हुए विवाद में 23 साल के सागर और उसके दो दोस्तों की कथित तौर पर कुछ अन्य पहलवानों ने बुरी तरह पिटाई की थी, जिसमें उसकी (सागर की) मौत हो गई थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस के मुताबिक इस विवाद में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस दलाल, सोनू, सागर, अमित और अन्य लोग शामिल थे. पुलिस ने इस संबंध में भारतीय दंड संहिता और आर्म्स एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है.
पुलिस हरियाणा के झज्जर के रहने वाले प्रिंस दलाल (24) को पहले ही पकड़ चुकी है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)