Vijay Hazare Trophy: कुछ ऐसे तमिलनाडु और हिमाचल ने बनायी विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में जगह

Vijay Hazare Trophy: राजस्थान में शुक्रवार को खेले गए दोनों सेमीफाइनल मैचों में दोनों ही टीमों के कई खिलाड़ियों ने उम्दा प्रदर्शन किया.

Vijay Hazare Trophy: कुछ ऐसे तमिलनाडु और हिमाचल ने बनायी विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में जगह

Vijay Hazare Trophy 2021: शाहरुख खान सेमीफाइनल में नहीं चले, लेकिन उनकी टीम जीत गयी

खास बातें

  • बाबा अपराजित का दम, तमिलनाडु के लिए बनाए 122 रन
  • इंद्रजीत (50) और वॉशिंगटन सुंदर (70) की अर्धशतकीय पारी
  • हिमाचल की जीत में कप्तान ऋषि धवन का ऑलराउंड जलवा
जयपुर:

Vijay Hazare Trophy: बाबा अपराजित के 122 रन की मदद से तमिलनाडु (Tamilnadu reaches in to Final) ने शुक्रवार को यहां जयपुर में सौराष्ट्र को दो विकेट से हराकर विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) एकदिनी चैम्पिनशिप के फाइनल में प्रवेश किया. इससे पहले शेल्डन जैक्सन की 134 रन की शानदार पारी से सौराष्ट्र ने आठ विकेट पर 310 रन का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया था, लेकिन अपराजित की शतकीय पारी के साथ उनके भाई इंद्रजीत (50) और वॉशिंगटन सुंदर (70) की अर्धशतकीय पारियों के बाद तमिलनाडु ने यह लक्ष्य अंतिम गेंद तक हासिल कर लिया. तमिलनाडु को अंतिम ओवर में सात रन की जरूरत थी. पुछल्ले बल्लेबाज आर साई किशोर (नाबाद 12 रन) और आर सिलाम्बारासन (नाबाद 02) ने इसे अंतिम गेंद में एक रन कर दिया. साई किशोर ने चौका लगाकर टीम को जीत दिलायी. तमिलनाडु के अलावा हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh makes cut in to final of Vijay Hazare trophy) ने भी सेना को हराकर फाइनल में जगह बना ली है.

यह भी पढ़ें:  जाफर ने दिया ठोस तर्क कि क्यों विराट को दक्षिण अफ्रीका में एक्स्ट्रा बल्लेबाज के साथ खेलना चाहिए

 इससे पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद सौराष्ट्र के सलामी बल्लेबाज विहारसिंह जडेजा (52 रन, छह चौके और एक छक्का) और हार्विक देसाई (09) ने पहले विकेट के लिये 31 रन जोड़े. मध्यम गति के गेंदबाज सिलाम्बारासन (54 रन देकर तीन विकेट) ने देसाई का विकेट झटका. फिर जैक्सन और जडेजा ने दूसरे विकेट के लिये 92 रन जोड़े. पर 23 वर्षीय स्पिनर एम सिद्धार्थ ने जडेजा को आउट कर इस भागीदारी को तोड़ा. जडेजा के आउट होने के बाद जैक्सन और प्रेरक माकंड (37) ने रन जोड़ना जारी रखा। जैक्सन ने अपनी 125 गेंद की पारी में 11 चौके और चार छक्के जड़े जबकि मांकड ने चार चौके और एक छक्का जमाया.


इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिये 81 रन की भागीदारी निभायी. पर सिलाम्बासरन ने फिर मांकड को आउट कर दिया. सौराष्ट्र का स्कोर 40 ओवर के बाद तीन विकेट पर 217 रन था. इसके बाद से जैक्सन को रोकना असंभव था. अर्पित वासवडा (40 गेंद में 57 रन, चार चौके और दो छक्के) ने उनका पूरा साथ निभाया। दोनों ने आसानी से गेंदबाजी आक्रमण का सामना किया,  लेकिन 46वें ओवर में जैक्सन आउट हो गये और वसावडा की पारी से सौराष्ट्र की टीम 300 से ज्यादा का स्कोर बनाने में सफल रही. तमिलनाडु के कप्तान विजय शंकर ने चार विकेट झटके.

इस 311 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए तमिलनाडु ने चेतन सकारिया (62 रन देकर पांच विकेट) की गेंद पर सलामी बल्लेबाज एन जगदीशन (शून्य) का विकेट गंवा दिया. सकारिया ने फिर शंकर (04) को पवेलियन भेजा जिससे टीम ने 23 रन पर दो विकेट गंवा दिये. हालांकि अपराजित (12 चौके और तीन छक्के) और इंद्रजीत (50 रन, पांच चौके, एक छक्का) ने तीसरे विकेट के लिये 97 रन की अहम भागीदारी निभायी.

यह भी पढ़ें:  पढ़िए हरभजन सिंह की पूरी रिटायरमेंट स्पीच, आखिर में बताया अपना आगे का क्रिकेट से जुड़ा 'प्लान

लेग स्पिनर युवराज चूड़ासमा (69 रन देकर दो विकेट) ने इंद्रजीत को आउट किया. दिनेश कार्तिक (31) भी बड़ी पारी नहीं खेल सके और जयदेव उनादकट (66 रन देकर एक विकेट) का शिकार हुए और तमिलनाडु ने 168 रन तक चार विकेट गंवा दिये. अपराजित और सुंदर ने पांचवें विकेट के लिये 76 रन की भागीदारी कर टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया. 43वें ओवर में अपराजित डीप एक्सट्रा कवर में कैच आउट हुए जबकि शाहरूख खान (17) भी 47वें ओवर में आउट हो गये. सकारिया ने फिर 49वें ओवर में सुंदर और सिद्धार्थ को आउट कर सौराष्ट्र के लिये उम्मीद बढ़ायी. पर तमिलनाडु के पुछल्ले बल्लेबाज संयमित बने रहे और अपनी टीम को फाइनल में ले गये जहां रविवार को उनका सामना हिमाचल प्रदेश से होगा. 

हिमाचल प्रदेश भी फाइनल में पहुंचा, कप्तान ऋषि धवन का ऑलराउंड प्रदर्शन
 
ऋषि धवन ने हरफनमौला प्रदर्शन से अगुआई की जिससे हिमाचल प्रदेश  ने शुक्रवार को यहां सवाई मानसिंह स्टेडियम में सेमीफाइनल में सेना को 77 रन से हराकर  फाइनल में प्रवेश किया, जिसमें उसका सामना तमिलनाडु से होगा. छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए हिमाचल प्रदेश के कप्तान ने 77 गेंद में 84 रन बनाकर मध्यक्रम के चरमराने के बाद अपनी टीम को वापसी करायी जिससे उन्होंने छह विकेट पर 281 रन का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य खड़ा किया. इसके जवाब में सेना की टीम 46.1 ओवर में 204 रन पर सिमट गयी जिसमें धवन ने 8.1 ओवर में 27 रन देकर चार विकेट झटके. इससे पहले धवन को आकाश वशिष्ठ का अच्छ सहयोग मिला. धवन ने अपनी पारी में नौ चौके और एक छक्का जड़ा जबकि वशिष्ठ ने 29 गेंद में 45 रन की तेज तर्रार पारी में चार चौके और दो छक्के लगाये.

यह भी पढ़ें: हरभजन सिंह के संन्यास के बाद क्रिकेट जगत से आई भर-भर के बधाइयां, देखिए किसने क्या लिखा

हिमाचल प्रदेश ने दिन के दूसरे ओवर में शुभमन अरोड़ा का विकेट गंवा दिया. इसके बाद प्रशांत चोपड़ा (109 गेंद में 78 रन) और दिग्विजय रंगी (59 गेंद में 37 रन) आउट हुए. इससे टीम की शुरुआत धीमी रही जो 22.2 ओवर में 100 रन तक पहुंची. रन गति तेज करने के प्रयास में हिमाचल ने मध्य के ओवरों में 24 रन के अंदर तीन विकेट गंवा दिये और उसका स्कोर चार विकेट पर 106 रन था. ऑफ स्पिनर राहुल सिंह ने रंगी को आउट किया जबकि निखल गंगटा (16) रन आउट हो गये. सेना के तेज गेंदबाज दिवेश पठानिया ने फिर अमित कुमार को शून्य पर आउट कर दिया जिससे हिमाचल की टीम मुश्किल में थी. लेकिन धवन ने टीम को संभाला और चोपड़ा के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिये 88 रन की साझेदारी निभायी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: भारतीय क्रिकेट टीम विवाद : कप्तान को लेकर विवादों का लंबा इतिहास