किसानों के समर्थन में मार्च के दौरान डीयू के छात्रों ने पुलिस पर लगाया हिंसा का आरोप

ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन के सदस्यों और विश्वविद्यालय के छात्रों ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने और गिरफ्तार सभी नेताओं की रिहाई की मांग करते हुए नारे लगाए और मार्च निकाला

किसानों के समर्थन में मार्च के दौरान डीयू के छात्रों ने पुलिस पर लगाया हिंसा का आरोप

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

दिल्ली विश्वविद्यालय (DU) के विद्यार्थियों ने बुधवार को आरोप लगाया कि किसानों के समर्थन में मार्च के दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और हिंसा का सहारा लिया जिसमें कई छात्र घायल हो गए. ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के सदस्यों और विश्वविद्यालय के छात्रों ने तीन कृषि कानूनों को वापस लेने और गिरफ्तार सभी नेताओं की रिहाई की मांग करते हुए नारे लगाए और मार्च निकाला.


आइसा की ओर से जारी बयान के अनुसार पुलिस ने वल्लभभाई पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट पर मार्च को रोकने की कोशिश की लेकिन छात्रों ने कला संकाय की तरफ बढ़ना जारी रखा और संकाय में पहुंचने पर पुलिस ने ‘‘हिंसा का सहारा लिया, हाथापाई की और कई विद्यार्थियों को घायल कर दिया.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रदर्शनकारियों ने कला संकाय में एक सभा करके मार्च संपन्न किया. हालांकि हिंसा के बारे में जब एक पुलिस अधिकारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने इस आरोप से इनकार किया.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)