'Pegasus snooping Case'

- 6 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Reported by: आशीष भार्गव |सोमवार सितम्बर 13, 2021 01:35 PM IST
    केंद्र ने कहा - लोगों ने निजता के उल्लंघन का आरोप लगाया है जो गंभीर है. हम जांच के लिए तैयार हैं. कमेटी ऑफ एक्सपर्ट जांच करेगी. तुषार मेहता ने कहा कि आईटी मंत्री ने कहा था कि हमारी मजबूत जांच और संतुलन प्रणाली के भीतर किसी भी प्रकार की अवैध निगरानी संभव नहीं है.
  • India | Reported by: आशीष कुमार भार्गव |मंगलवार सितम्बर 7, 2021 11:55 AM IST
    शीर्ष अदालत के उस सवाल पर कि क्या केंद्र एक विस्तृत हलफनामा दायर करने के लिए तैयार है, मेहता ने कहा कि दायर दो पृष्ठ का हलफनामा याचिकाकर्ता एन राम और अन्य द्वारा उठाई गई चिंताओं का पर्याप्त रूप से जवाब देता है. सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हलफनामा दाखिल करने के लिए समय मांगा. इस पर SC ने मामले की सुनवाई 13 सितंबर तक टाल दी.
  • India | Reported by: आशीष भार्गव |मंगलवार सितम्बर 7, 2021 12:58 AM IST
    CJI एन वी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस ए एस बोपन्ना की बेंच इन याचिकाओं पर सुनवाई करेगी.
  • India | Reported by: आशीष भार्गव, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |गुरुवार अगस्त 5, 2021 12:19 PM IST
    पेगासस कथित जासूसी मामले की स्वतंत्र जांच कराने का अनुरोध करने वाली 9 याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज एकसाथ सुनवाई हुई. इन याचिकाओं में एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया और वरिष्ठ पत्रकारों एन. राम तथा शशि कुमार द्वारा दी गई अर्जियां भी शामिल हैं. कोर्ट ने कहा कि अगर मीडिया रिपोर्ट्स सही हैं तो ये आरोप काफी गंभीर हैं. मामले में जनहित याचिका दाखिल करने वाले वकील एम एल शर्मा ने सुनवाई के दौरान कपिल सिब्बल को रोका तो CJI ने इस पर आपत्ति जताई. CJI रमना ने शर्मा से कहा, "आपकी याचिका में अखबारों की कटिंग के अलावा क्या डिटेल है? आप चाहते हैं कि सारी जांच हम करें और तथ्य जुटाएं. ये जनहित याचिका दाखिल करने का कोई तरीका नहीं है." सुप्रीम कोर्ट की दो जजों की खंडपीठ ने कहा कि इस मामले में विदेशी कंपनियां भी शामिल हैं. यह एक जटिल मसला है. नोटिस लेने के लिए केंद्र की ओर से किसी को पेश होना चाहिए था. मामले की अगली सुनवाई अब 10 अगस्त को होगी.
  • India | Reported by: आशीष भार्गव, Edited by: प्रमोद कुमार प्रवीण |रविवार अगस्त 1, 2021 11:13 AM IST
    सुप्रीम कोर्ट की दो न्यायाधीशों की खंडपीठ गुरुवार को पेगासस घोटाले (Pegasus Scandal) की विशेष जांच के अनुरोध वाली याचिकाओं पर सुनवाई करेगी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि विपक्षी नेताओं, पत्रकारों और अन्य लोगों की इजरायली स्पाइवेयर द्वारा जासूसी करवाए गए हैं. ये याचिकाएं वरिष्ठ पत्रकार एन राम, सीपीएम नेता जॉन ब्रिटास और अधिवक्ता एमएल शर्मा ने दायर की हैं.
  • India | Reported by: राजीव रंजन |बुधवार जुलाई 28, 2021 10:54 AM IST
    Pegasus snooping case: पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नौ विपक्षी दलों के नेता लोकसभा में पेगासस जासूसी मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव देंगे ताकि इस मुद्दे पर सदन में चर्चा हो सके. बुधवार की सुबह दोनो सदनों के विपक्षी दलों के साथ राज्यसभा के विपक्षी दल के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ मिलकर आगे की रणनीति तय करेंगे. 
और पढ़ें »
'Pegasus snooping Case' - 16 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com