छत्तीसगढ़ में नक्सलियों में फैला कोरोना संक्रमण, पुलिस ने आत्मसमर्पण करने का आह्वान किया

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने माओवादियों से आह्वान किया है कि समर्पण करें, पुलिस मुफ्त में इलाज कराएगी, वरना यह संक्रमण उनसे ग्रामीणों में भी फैल जाएगा

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों में फैला कोरोना संक्रमण, पुलिस ने आत्मसमर्पण करने का आह्वान किया

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने नक्सलियों से समर्पण करने का आह्वान किया है.

दंतेवाड़ा (छत्तीसगढ़):

छत्तीसगढ़ (Chhattisragh) में माओवादियों के संगठन में 50 से अधिक वरिष्ठ नेताओं में कोरोना (Coronavirus) का संक्रमण और फूड पॉयजनिंग (Food poisoning) फैलने की खबर के बाद दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने माओवादियों से आह्वान किया है कि वे लोन वर्राटू के तहत समर्पण करें, पुलिस उनका मुफ्त में इलाज कराएगी, वरना यह संक्रमण उनसे ग्रामीणों में भी फैल जाएगा. 

माओवादियों के संगठन में 50 से अधिक वरिष्ठ नेताओं में कोरोना का संक्रमण और फ़ूड पॉयजनिंग फैलने की खबर है. इनमें 25 लाख की इनामी महिला नक्सली लीडर, SZC की मेम्बर  सुजाता भी कोरोना की चपेट में है. गंगालूर एरिया कमेटी, दरभा डिवीजन और बटालियन टीम के नक्सली भी कोरोना की चपेट में हैं.

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि विश्वस्त सूत्रों से यह खबर आई है कि बड़े माओवादी फूड पॉइजनिंग और कोरोना के शिकार हुए हैं. खास तौर पर 25 लाख की इनामी माओवादी सुजाता कोरोना के सीवियर इन्फेक्शन से ग्रसित है. उसके फेंफड़ों में पानी भर गया है. वह सांस नहीं ले पा रही है, चल नहीं पा रही है. उसमें कोरोना के सारे लक्षण हैं. उसके साथ माओवादी लीडर दिनेश और उसकी टीम के 10-15 लोग, सोनू जयलाल, जो कि 10 लाख का इनामी है उसकी टीम के 10-15 लोग कोरोना से ग्रसित हैं. सप्लाई लाइन चोक होने से एक्सपायरी पदार्थ खाने से फूड प्वाइजनिंग हुई है.


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पल्लव ने बताया कि फूड प्वाइजनिंग और कोरोना नक्सलियों में फैल रहा है और इससे ग्रामीणों में भी कोरोना फैलने का खतरा बढ़ रहा रहा है. उन्होंने माओवादियों से आह्वान किया है कि वे लोन वर्राटू के तहत समर्पण करें, पुलिस उनका मुफ्त में इलाज कराएगी, वरना यह संक्रमण उनसे ग्रामीणों में भी फैल जाएगा.