पीएम ने आर्थिक स्वच्छता का संकल्प लेने का देशवासियों से किया आह्वान, जानिए 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने आर्थिक स्वच्छता का संकल्प लेने का आह्वान किया. साथ ही उन्‍होंने विश्‍व नदी दिवस पर बोलते हुए नदियों को स्‍वच्‍छ रखने के लिए सबके प्रयास कीआवश्‍यकता जताई.

पीएम ने आर्थिक स्वच्छता का संकल्प लेने का देशवासियों से किया आह्वान, जानिए 10 बड़ी बातें

विश्‍व नदी दिवस पर बोलते हुए नदियों को स्‍वच्‍छ रखने के लिए सबके प्रयास की आवश्‍यकता जताई.(फाइल)

नई दिल्‍ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi ) ने रविवार को देशवासियों के साथ मन की बात (Mann Ki Baat) की. इस दौरान पीएम मोदी ने आर्थिक स्वच्छता का संकल्प लेने का आह्वान किया. साथ ही उन्‍होंने विश्‍व नदी दिवस (World River Day) पर बोलते हुए नदियों को स्‍वच्‍छ रखने के लिए सबके प्रयास की आवश्‍यकता जताई. साथ ही पीएम ने देश के लोगों से महात्‍मा गांधी की जयंती पर खादी की रिकॉर्ड खरीदारी का भी आह्वान किया. पीएम मोदी ने अपनी अमेरिका यात्रा से पूर्व ही मन की बात के 81वें संस्‍करण को रिकॉर्ड करवा दिया था. 

  1. पीएम मोदी ने मन की बात के दौरान कहा, हम नदियों की सफाई और उन्हें प्रदूषण से मुक्त करने का काम सबके प्रयास और सबके सहयोग से कर ही सकते हैं, उन्‍होंने कहा कि ‘नमामि गंगे मिशन' भी आज आगे बढ़ रहा है तो इसमें सभी लोगों के प्रयास, एक प्रकार से जन-जागृति, जन-आंदोलन की बहुत बड़ी भूमिका है. 
  2. पीएम मोदी ने कहा कि आजकल एक विशेष ऑक्‍शन चल रहा है. उन्‍होंने कहा कि ये इलेक्ट्रॉनिक नीलामी उन उपहारों की हो रही है, जो लोगों ने मुझे समय-समय पर दिए हैं. इस नीलामी से जो पैसा आएगा, वो ‘नमामि गंगे' अभियान के लिये ही समर्पित किया जाता है ." उन्‍होंने कहा कि आप जिस आत्मीय भावना के साथ मुझे उपहार देते हैं, उसी भावना को ये अभियान और मजबूत करता है.
  3. पीएम मोदी ने कहा कि कभी भी छोटी बात को छोटी चीज़ को, छोटी मानने की गलती नहीं करनी  चाहिए. अगर महात्मा गांधी के जीवन की तरफ हम देखेंगे तो हम हर पल महसूस करेंगे कि छोटी-छोटी बातों की उनके जीवन में कितनी बड़ी अहमियत थी और छोटी-छोटी बातों को ले करके बड़े बड़े संकल्पों को कैसे उन्होंने साकार किया था. उन्‍होंने कहा कि छोटे-छोटे प्रयासों से कभी कभी तो बहुत बड़े-बड़े परिवर्तन आते हैं. 
  4. सफाई पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि महात्मा गांधी ने स्वच्छता को जन-आन्दोलन बनाने का काम किया था. उन्‍होंने स्‍वच्‍छता का संकल्‍प लेने का आह्वान करते हुए कहा कि हमारे आज के नौजवान को ये जरुर जानना चाहिए कि साफ-सफाई के अभियान ने कैसे आजादी के आन्दोलन को एक निरंतर ऊर्जा दी थी.
  5. सफाई के साथ ही पीएम मोदी नेआर्थिक स्‍वच्‍छता की बात की. उन्‍होंनेक कहा कि जिस तरह शौचालयों के निर्माण ने गरीबों की गरिमा बढ़ाई, वैसे ही आर्थिक स्वच्छता, गरीबों को अधिकार सुनिश्चित करती है, उनका जीवन आसान बनाती है. उन्‍होंने कहा कि जनधन खातों का जो अभियान शुरू किया गया था, उससे गरीबों को उनके हक का पैसा सीधा उनके खाते में जा रहा है जिसके कारण भ्रष्टाचार में कमी आई है. 
  6. देश में अगस्त के दौरान महीने में यूपीआई से 355 करोड़ ट्रांजेक्शन हुए हैं. पीएम मोदी ने यह आंकड़ा बताते हुए कहा कि आर्थिक स्‍वच्‍छता में टेक्‍नोलॉजी बहुत मदद कर सकती है. 
  7. पीएम मोदी ने कहा कि आज खादी और हैंडलूम का उत्पादन कई गुना बढ़ा है और उसकी मांग भी बढ़ी है. आप भी जानते हैं ऐसे कई अवसर आये हैं जब दिल्ली के खादी शोरूम में एक दिन में एक करोड़ रूपए से ज्यादा का कारोबार हुआ है. 2 अक्टूबर को बापू की जन्म-जयंती पर हम सब फिर से एक बार एक नया रिकॉर्ड बनाएं. 
  8. उन्‍होंने कहा कि अमृत महोत्सव के इसी कालखंड में देश में आज़ादी के इतिहास की अनकही गाथाओं को जन-जन तक पहुँचाने का एक अभियान चल रहा है और इसके लिए नवोदित लेखकों को, देश के और दुनिया के युवाओं को आह्वान किया गया था.  इसमें 13 हजार लोगों ने रजिस्‍ट्रेशन कराया है. 
  9. पीएम मोदी ने कहा कि सियाचिन ग्लेशियर की 15 हजार फीट से भी ज्यादा की ऊंचाई पर स्थित ‘कुमार पोस्ट' पर आठ दिव्‍यांग जनों की टीम ने परचम लहराकर वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बना दिया है. शरीर की चुनौतियों के बावजूद भी दिव्यांगों ने जो कारनामा कर दिखाया है वो पूरे देश के लिए प्रेरणा है और जब इस टीम के सदस्यों के बारे में जानेंगे तो आप भी मेरी तरह हिम्मत और हौसले से भर जाएंगे. 
  10. पारंपरिक खेती के प्रयोगों के बारे में बात करते हुए पीएम ने कहा कि खेती में हो रहे नए प्रयोग, नए विकल्प, लगातार, स्वरोजगार के साधन बना रहे हैं . 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com