भारत में अल्पसंख्यक नहीं हैं मुस्लिम, सरकार से कहने के बजाय समाज को दें : कांग्रेस नेता रहमान खान

राज्यसभा के पूर्व उप सभापति रहमान खान ने कहा - देश में करीब 20 से 22 करोड़ मुस्लिम, 22 करोड़ अल्पसंख्यक कैसे हो सकते हैं?

भारत में अल्पसंख्यक नहीं हैं मुस्लिम, सरकार से कहने के बजाय समाज को दें : कांग्रेस नेता रहमान खान

प्रतीकात्मक फोटो.

बे्ंगलुरु:

वरिष्ठ कांग्रेस नेता रहमान खान ने शनिवार को कहा कि मुस्लिम देश में अल्पसंख्यक नहीं हैं और उन्हें राष्ट्रनिर्माण में भूमिका निभानी चाहिए. राज्यसभा के पूर्व उप सभापति खान ने कहा, ‘‘देश में करीब 20 से 22 करोड़ मुस्लिम हैं. मेरे हिसाब से वे अल्पसंख्यक नहीं हैं. 22 करोड़ अल्पसंख्यक कैसे हो सकते हैं? हमें यह रंग दिया जाता रहा है.'' उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने एक किताब ‘इंडियन मुस्लिम्स: द वे फॉरवर्ड' भी लिखी है. खान ने समुदाय से राष्ट्र निर्माण में योगदान देने को कहा. खान ने कहा, ‘‘हमें समाज में योगदान देना होगा. हमें समाज को देना चाहिए और अच्छे नागरिक बनना चाहिए. सरकार से कहने के बजाय हमें समाज को देना चाहिए.''

उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 14, 15 और 16 के अनुसार यदि कोई तबका या समुदाय पिछड़ा है और उसे सहयोग की जरूरत है तो संविधान सरकार को सकारात्मक कार्रवाई का अधिकार देता है. उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए कोई पार्टी सत्ता में आकर किसी समुदाय को फायदा नहीं पहुंचा रही.'' वह राज्य में हंगल और सिंदगी सीटों पर 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनावों से पहले मुसलमानों के समर्थन को लेकर कांग्रेस तथा जेडीएस नेताओं के बीच राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप पर पूछे गये सवालों का जवाब दे रहे थे.


एक सवाल के जवाब में कांग्रेस नेता ने कहा कि अल्पसंख्यक भी देश के नागरिक हैं और राजनेताओं के ये दावे उनका अपमान हैं कि समुदाय का इस्तेमाल वोटों के लिए किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘क्या अल्पसंख्यकों को इस बात का ज्ञान नहीं है कि किसे वोट देना है और किसे नहीं.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस धर्मनिरपेक्ष पार्टी है और 70 साल से वह धर्मनिरपेक्षता को बचाने के लिए खड़ी है तथा मुस्लिम इसका समर्थन करते हैं.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)