Mann Ki Baat Updates: लाखों हेल्थकेयर वर्कर्स की मेहनत से 100 करोड़ टीके का रिकॉर्ड बना, मन की बात में बोले पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के बागेश्वर के एक गांव में सौ फीसदी टीकाकरण का कार्य पूरा हो गया है. यहां एएनएम पूनम नौटियाल जी ने अपने क्षेत्र के लोगों के टीकाकरण के लिए दिन रात मेहनत की.

Mann Ki Baat Updates: लाखों हेल्थकेयर वर्कर्स की मेहनत से 100 करोड़ टीके का रिकॉर्ड बना, मन की बात में बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने स्वास्थ्यकर्मियों के प्रयासों की सराहना की (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने रविवार को 'मन की बात' (Mann Ki Baat) के 82वें संस्करण में कोरोना समेत कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. उन्होंने देश में कोरोना वैक्सीनेशन (100 Crore Vaccination) की रिकॉर्ड रफ्तार और 100 करोड़ टीके लगने का जिक्र किया. साथ ही दीपावली समेत अन्य त्योहारों के दौरान लोगों से सावधानी बरतने की अपील की ताकि कोरोना को फैलने से रोका जा सके. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश कोविड-19 रोधी टीके की 100 करोड़ खुराकें देने की उपलब्धि के बाद नयी ऊर्जा और उत्साह से आगे बढ़ रहा है. हमारे टीकाकरण अभियान की सफलता भारत की क्षमताओं, ‘सबका प्रयास' मंत्र की ताकत को दिखाती है.

'डिजिटल लेनदेन से अर्थव्यवस्था में आई पारदर्शिता, करप्शन पर लगाम', 'मन की बात' में PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे स्वास्थ्यकर्मियों ने अपने अथक परिश्रम और संकल्प से एक नई मिसाल पेश की. हमने कई बार अख़बारों में पढ़ा है, बाहर भी सुना है टीकाकरण के लिए हमारे इन लोगों ने कितनी मेहनत की है, एक से बढ़कर एक अनेक प्रेरक उदाहरण हमारे सामने हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के बागेश्वर के एक गांव में सौ फीसदी टीकाकरण का कार्य पूरा हो गया है. यहां एएनएम पूनम नौटियाल जी ने अपने क्षेत्र के लोगों के टीकाकरण के लिए दिन रात मेहनत की.

पीएम मोदी को उन्होंने बताया कि बारिश और बर्फबारी के बावजूद वो घर-घर तक गईं. दूरदराज में घर-घर तक गए और लोगों की हिचकिचाहट दूर करने का काम भी किया. पूनम ने कहा कि हमने गांव के हर पात्र व्यक्ति की लिस्ट बनाई और जो टीका लगवाने नहीं आए, उन्हें घर जाकर परिवार के साथ मिल बैठकर टीका लगवाया.


उन्होंने सरदार पटेल को नमन करते हुए कहा कि अगले रविवार 31 अक्टूबर को सरदार पटेल जी की जन्म जयंती है. मैं सभी लोगों की तरफ से लौहपुरुष को नमन करता हूं. 31 अक्टूबर को हम ‘राष्ट्रीय एकता दिवस' के रूप में मनाते हैं. हम सभी का दायित्व है कि हम एकता का संदेश देने वाली किसी-ना-किसी गतिविधि से जरुर जुड़ें. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com