कैसे करें महासप्तमी पर देवी कालरात्रि की आराधना, किस चीज का लगाएं भोग

नवरात्रि के नौ दिन देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है. जैसाकि, हम सभी जानते हैं कि पूरा भारत इन दिनों शारदीय नवरात्रि का पर्व मना रहा है.

कैसे करें महासप्तमी पर देवी कालरात्रि की आराधना, किस चीज का लगाएं भोग

खास बातें

  • नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है.
  • का​लरात्रि का नाम दो शब्दों से मिलकर बना है.
  • मां कालरात्रि को गुड़ का भोग लगाया जाता है.

नवरात्रि के नौ दिन देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है. जैसाकि, हम सभी जानते हैं कि पूरा भारत इन दिनों शारदीय नवरात्रि का पर्व मना रहा है. देवी के भक्त उन्हें प्रसन्न करने के हर दिन पूरे विधि-विधान के साथ मां के हर स्वरूप की आराधना करते हैं. नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है. का​लरात्रि का नाम दो शब्दों से मिलकर बना है, काल का अर्थ है मृत्यु और रात्रि का मतलब है अंधकार. कहा जाता है कि मां कालरात्रि अंधकार का नाश कर रोशनी लाती है. मां कालरात्रि का जन्म रक्तबीज दानव के संहार के लिए हुआ था.

Navratri 2020: जानें कब है महानवमी का शुभ मुहूर्त और किस तरह करें कंजक पूजन

मां कालरात्रि का स्वरूप

कालरात्रि का स्वरूप अत्यंत भयंकर है क्योंकि इनका जन्म दुष्ट दानवों के ​नष्ट करने के लिए किय गया था. जो भी भक्त पूरे सच्चे मन से इनकी अराधना करता है यह उनका कल्याण करती है और शुभ फल देती हैं, जिस कारण इन्हें शुभंकरी भी कहते हैं. देवी कालरात्रि का रंग काला होने के बावजूद की काफी तेज भरा है. देवी कालरात्रि गधे पर विराजमान हैं, इनके खुले बाल हवा में लहरा रहे हैं, इनकी चार भुजाएं हैं जिनमें से दो भुजाओं में उन्होंने खड्ग और तलवार धारण की हुई है. अपने एक हाथ से अपने भक्तों पर आर्शीवाद के रूप में कृपा बरसा रही हैं.

मां कालरात्रि को क्या लगाएं भोग

मां कालरात्रि को गुड़ का भोग लगाया जाता है, इसलिए आप चाहे तो महासप्तमी वाले दिन देवी कालरात्रि को गुड़ का हलवा बनाकर भोग लगा सकते हैं. इसके अलावा हम आपके लिए कुछ व्रत फ्रेंडली रेसिपीज भी लेकर आए हैं.

यहां देखें व्रत में बनाई जाने वाली कुछ खास रेसिपीज

आलू का हलवा

फटाफट तैयार होने वाला यह हलवा नवरात्रि के लिए एकदम परफेक्ट हैं. इसे बनाने के लिए आपको उबले हुए आलू, चीनी, दूध, काजू और बादाम की जरूर होती है. पूरी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

क्या है अष्टमी का महत्व, दुर्गा अष्टमी पर किन चीजों का लगता है भोग

खस्ता साबूदाना की टिक्की

यह स्वादिष्ट टिक्की खाने में बहुत ही क्रिस्पी लगती है जिसे आमतौर पर नवरात्रि के व्रत के दौरान बनाया जाता है. इसे आलू, काजू, हरी मिर्च, सेंधा नमक और कुछ मसाले डालकर बनाया जाता है.पूरी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

कुट्टू का डोसा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नवरात्रि में खाने के विकल्प काफी कम होते है, व्रत के दौरान कुट्टू का आटा खाया जाता है. कुट्टू के आटे से बहुत से पकवान बनाएं जा सकते है. इससे एक स्वादिष्ट डोसा भी बनाया जा सकता है. पूरी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.