Elaneer Payasam: मीठा खाना है पसंद, तो साउथ की इस इल्लनीर पायसम रेसिपी को जरूर ट्राई करें

Elaneer Payasam: साउथ इंडियन पायसम रेसिपी को आमतौर पर चावल या दाल के साथ, कम मसाले और हल्के मीठे के साथ बनाया जाता है. ये एक बहुत ही स्वादिष्ट खीर है, जिसे नारियल दूध और सूखे नारियल गोले के साथ बनाया जाता है.

Elaneer Payasam: मीठा खाना है पसंद, तो साउथ की इस इल्लनीर पायसम रेसिपी को जरूर ट्राई करें

Elaneer Payasam: इस पायसम डेज़र्ट को केले के पत्ते में सर्व किया जाता है.

खास बातें

  • पायसम एक स्वादिष्ट स्वीट डिश है.
  • पायसम डेज़र्ट साउथ की एक फेमस डिश है.
  • इस पायसम डेज़र्ट को घर पर आसानी से बनाया जा सकता है.

Elaneer Payasam: सभी साउथ इंडियन स्वीट और डेज़र्ट हमेशा हमारे पास नहीं होते. मैसूर पाक रेसिपी उन्हीं स्वीट में से एक है जिसे सिर्फ तीन चीजों से बनाया जा सकता है. 20 वीं शताब्दी की घटना है. जब मैसूर महल के शाही रसोई में इस स्वादिष्ट व्यंजन का आविस्कार किया गया था. इल्लनीर पायसम एक स्वादिष्ट व्यंजन है, जिसको हाल ही में नारियल के दूध या नारियल के गोले का उपयोग करके आविष्कार किया गया, इस व्यंजन को ठंडे मीठे के लिए कम दूध के साथ बनाया जाता है.

पायसम (या खीर) साउथ में बड़े पैमाने पर उत्सव के समय बना कर, केले के पत्ते के साथ परोसा जाता है. पिछले कुछ दशकों में, हमने पश्चिमी खाने को अपनाया है. और भोजन के अंत में मीठे के रूप में पायसम को सर्व करते हैं. लेकिन इसे हमेशा खाने के बाद नहीं खाया जाता, ये कोई असामन्य बात नहीं है कि पायसम को केले के पत्ते में सबसे पहले सर्व किया जाता है. इसके अलावा, पायसम को आमतौर पर गर्म या कमरे के तापमान पर परोसा जाता था. एक ठंडी सेवइयां पायसम (सूजी की खीर) या पाल पायसम (दूध की खीर) ये 1970 और 80 के दशक में शुरू हुई जब पूरे दक्षिण भारत में रेफ्रिजरेटर मुख्यधारा में आ गए. एक पारंपरिक साउथ इंडियन पायसम में आमतौर पर चावल या दाल शामिल होते हैं, और इसमें हल्का मीठा एड किया जाता है. बहुत अधिक मसाले के बिना. 

 

पहली बार मैंने इल्लनीर पायसम की रेसिपी बनाने की कोशिश की थी. नीचे दी गई रेसिपी चेन्नई के कोरोमंडल की है. इस रेस्टोरेंट को 1990 के दशक के उत्तरार्ध में शुरू किया गया था. जिसमें इल्लनीर पायसम एक सिग्नेचर रेसिपी बन गई. नारियल के दूध और नारियल की खुसबू रेस्टोरेंट पोलाची (कोयम्बटूर के पास) से ही आपको मिलने लगेगी. नारियल के अंदर के कोमल भाग जिसे तमिल में 'वाझुक्कई' के नाम से भी जाना जाता है. इसे इल्लनीर पायसम भी कहा जाता है. यह इल्लनीर पायसम के लिए एक अद्भुत बनावट पर प्रकास डालता है. नारियल पानी का उपयोग पानी को संदर्भित करने के लिए भी किया जाता है. इल्लनीर पायसम के स्वास्थ्य लाभ ने इसे साउथ इंडियन में गर्मियों का सबसे अच्छा डाइट पार्ट बना दिया. इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स, विटामिन और मिनरल (जैसे कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम) के गुण पाए जाते हैं. इसमें अमिनो एसिड भी पाया जाता है, जो हमारे टिशू को रिपेयर करने और प्रोटीन को ब्लॉक करने में मदद करता है.

इस यूनिक टेस्चर और स्वाद के साथ बनाई गई पायसम, चेन्नई और बेंगलुरु जैसे शहरों में साउथ की एक फेमस डेसर्ट बन गई है. जैसे एक नारियल मूस या नारियल आइसक्रीम अब विदेशी नहीं हैं. इल्लनीर पायसम भी धीरे-धीरे दक्षिण भारतीय रेस्तरां और शादी के मेनू में एक नियमित स्थिरता बनती जा रही है. और मैसूर पाक की तरह ही इसने अपनी हालिया उत्पत्ति के बावजूद एक क्लासिक दर्जा हासिल कर लिया है.

Natural Remedies: इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

e676lhf

पायसम डेज़र्ट साउथ की एक फेमस डिश है

इल्लनीर पायसम रेसिपी:

(सुजन मुखर्जी - एक्जीक्यूटिव शेफ, ताज कोरोमंडल, चेन्नई)

इस पायसम रेसिपी को कम दूध, नारियल के दूध, गुड़ और नारियल की गिरी का सही संतुलन है. हालांकि यह बनाने में अपेक्षाकृत सरल है, इसमें मिठास को संतुलित करना है, और सबसे कोमल नारियल का उपयोग करना है. साउथर्न स्पाइस की टीम का मानना ​​है कि इस डिश को तैयार करने में लगभग 6 घंटे से कम समय लगता है. 

भागों की संख्या- 6

सामग्री:

ताजे नारियल का दूध- 600 मिलीलीटर
नारियल गोला- 200 ग्राम
गुड़- 100 ग्राम
कम किया हुआ दूध- 150 मिलीलीटर

विधि:

नारिय गोले से गरी बारीक काट के अलग सेट करें.
गुड़ को छोड़कर सभी सामग्री को ठंडा कर लें.
एक महीन चूर्ण के लिए गुड़ का टुकड़ा
गाढ़ा और ताजा नारियल का दूध डालें, मिश्रण को अच्छी तरह से मिलाएं और छलनी से छान लें.
अब कम किया हुआ दूध डालें और कटा हुआ नारियल डालकर हिलाएं और धीरे से मिलाएं.
ठंडा परोसें

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

फूड की और खबरों के लिए जुड़े रहें.

खांसी की अचूक दवा साबित होंगे खांसी के ये 10 घरेलू उपाय

Folic Acid: स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है फोलिक एसिड, जानें ये चार जबरदस्त लाभ!

Protein Foods Sources: वेजिटेरियन हैं तो डाइट में शामिल करें ये 6 चीजें, नहीं होगी प्रोटीन की कमी!

डायबिटीज को कंट्रोल और आयरन की कमी को दूर करने में मददगार है मेथी का सेवन, जानें ये 5 बेहतरीन लाभ

Benefits Of Sweet Potatoes: स्वाद और सेहत का खजाना है शकरकंद, जानें ये 7 चमत्कारी लाभ!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

Dev Uthani Ekadashi 2020: जानें कब है देवउठनी एकादशी, शुभ मुहूर्त, पूजन और प्रसाद

अन्य खबरें