Diet for Diabetes: यह मौसमी फल कम करेगा शुगर लेवल, जानें नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल कितना होना चाहिए

Diabetes diet: एकदम नर्म और मुंह में जाते ही घुल जाने वाला बबूगोशा आपकी डायबिटीज यानी मधुमेह को नियंत्रित करने में भी मददगार साबित होता है. बबूगोशा, नाशपाती (nashpati) परिवार का एक फल है. जोकि एक मौसमी फल (monsoon fruits) है.

Diet for Diabetes: यह मौसमी फल कम करेगा शुगर लेवल, जानें नॉर्मल ब्लड शुगर लेवल कितना होना चाहिए

Diabetes diet: मधुमेह को कंट्रोल करने में बबूगोशा मददगार साबित हो सकता है.

खास बातें

  • डायबिटीज डाइट आपके लिए वह सबसे जरूरी काम होगा जिस पर ध्यान देना होगा.
  • मधुमेह की दवा आपको बिना डॉक्टरी सलाह के नहीं लेनी चाहिए.
  • आहार में मौसमी फलों (Seasonal Fruit) को ही शामिल करें.

Diet for Diabetes: डायबिटीज के साथ जीना कई बार आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है. डायबिटीज (Diabetes) शरीर के कई अंगों को प्रभावित कर सकता है. डायबिटीज लेवल को नियंत्रित रखना बहुत जरूरी है. इसके लिए डायबिटीज कंट्रोल करने के नुस्खे (Remedies) अपनाए जा सकते हैं. मधुमेह यानी डायबिटीज डाइट आपके लिए वह सबसे जरूरी काम होगा जिस पर ध्यान देना होगा. लेकिन सबसे पहले यह समझ लेना जरूरी हो जाता है कि डायबिटीज क्या है, डायबिटीज आहार कैसा (Diabetic Diet) होना चाहिए और डायबिटीज की दवा (Diabetes Food) कब लेनी चाहिए. जहां तक बात है मधुमेह की दवा कि, वह आपको बिना डॉक्टरी सलाह के नहीं लेनी चाहिए. और दूसरी बात डायबिटीज के लिए भोजन की, तो उससे जुड़ी सलाह हम आपको दे सकते हैं. ऐसे बहुत से खाद्य पदार्थ हैं जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मददगार साबित हो सकते हैं. और साथ ही यह वजन कम (Weight Loss) करने में भी मददगार साबित होते हैं. लेकिन इस बात का ध्यान रखने की भी जरूरत है कि आप अपने आहार में मौसमी फलों (Seasonal Fruit) को ही शामिल करें. भले ही किसी फल का कितना ही लाभ आपको पता क्यों न हो, आहार में शामिल उसे उसके सीजन में ही करें. तो चलिए हम आपको बताते हैं ऐसे ही एक फल के बारे में जिसका अभी सीजन चल रहा है और जो डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Levels) को कंट्रोल करने में आपकी बहुत मदद कर सकता है. 

Diabetes Diet: क्या है हाई-प्रोटीन मैनकई डकवीड्स, काई जैसे सुपरफूड Duckweed से करें डायबि‍टीज कंट्रोल व वजन कम

क्या होता है आपके दिमाग के साथ जब आप छोड़ते हैं शुगर?

यह फल है नाशपाती या बब्बूगोशा यानी पियर (Pear). जी हां, आपने सही पढ़ा. पियर यानी नाशपाती या बब्बूगोशा जहां एक ओर आपको स्वाद के मजे देता है वहीं दूसरी और यह आपकी सेहत के लिए भी बहुत अच्छा है. नाशपाती या बब्बूगोशा के फायदे जानका आप हैरान हो सकते हैं. एकदम नर्म और मुंह में जाते ही घुल जाने वाला नाशपाती या बब्बूगोशा आपकी डायबिटीज यानी मधुमेह को नियंत्रित करने में भी मददगार साबित होता है. बबूगोशा, नाशपाती (nashpati) परिवार का एक फल है. जोकि एक मौसमी फल (monsoon fruits) है. अगर आप नाशपाती को दूर से देखेंगे तो यकीनन आपको यही लगेगा कि वो ग्रीन एप्पल हैं. लेकिन स्वाद और गुणों में यह सेब से बहुत अलग है. यह स्वाद में बेहद मीठा और नर्म इतना कि मुंह में जाते ही घुल जाए. बबूगोशा, नाशपाती से अलग होता है. जहां नाशपाती टाइट होती है वहीं नाशपाती मक्खन की तरह नर्म. स्वाद और सेहत का एक अच्छा मेल है बबूगोशा. लेकिन फिर भी ज्यादातर लोग इसके पोषक तत्वों के बारे में नहीं जातने. अपने पोषक तत्वों के चलते नाशपाती या बब्बूगोशा डायबिटीज में फायदेमंद साबित होता है. चलिए एक नजर में जानते हैं डायबिटीज को कंट्रोल करने में किस तरह काम करता है नाशपाती  - 

डायबिटीज डाइट : मधुमेह को कैसे कंट्रोल करें नाशपाती की मदद से (Diabetes diet: Pear for diabetes)

फाइबर डायबिटीज को नियंत्रित करने में बहुत मददगार होता है. और नाशपाती या बब्बूगोशा फाइबर से भरपूर होता है. एक सामान्य आकार का नाशपाती या बब्बूगोशा 6 ग्राम फाइबर से भरपूर होता है. तो आप समझ सकते हैं कि डायबिटीज के रोगी के लिए कितना अच होगा. इसके साथ ही साथ यह ब्लड शुगर लेवल और कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कंट्रोल करने में मददगार है. फाइबर आपको काफी देर तक भूख का अहसास नहीं होने देता. ऐसा करने से आप अतिरिक्त कैलोरी लेने से बच जाते हैं.

एक अन्य कारक जो नाशपाती को मधुमेह के लिए फायदेमंद बनाता है, वह है इसका कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Glycemic index). ग्लाइसेमिक इंडेक्स एक संख्या है, जो बताती है कि आपका शरीर भोजन में मौजूद कार्ब्स को कितनी तेजी से ग्लूकोज में परिवर्तित करता है. यह आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाने के लिए भोजन की क्षमता को बताता है. उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले खाद्य पदार्थ कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाते हैं. एक ही नंबर के कार्ब्स वाले दो खाद्य पदार्थों में एक अलग ग्लाइसेमिक इंडेक्स हो सकता है. नाशपाती या बब्बूगोशा एक ऐसा फल है जिसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है.

एस्टर सीएमआई अस्पताल के डॉ. महेश, डी.एम, कंसल्टेंट (एंडोक्रिनोलॉजी) के अनुसार "एक संपूर्ण फल (छिलके और गूदे के साथ) के रूप में नाशपाती मधुमेह को बेहतर तरीके से नियंत्रण कर सकता है. बबूगोशे के छिलके में बहुत से पोषक तत्व होते हैं. इन्हीं में से एक है हाई-फेनोलिक. जो मधुमेह रोगियों को अल्फा-एमाइलेज़ और अल्फा-ग्लूकोसिडेस के निषेध में मदद करता है, जो ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में एक भूमिका निभाता है.''
 

qk4i1qlg

Fruits for diabetes: नाशपाती या बब्बूगोशा दोनों में ही ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जो इसे डाइबिटीज के लिए एक बेहतर आहार साबित करता है.

डायबिटीज डाइट: कैसे मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए आहार में शामिल करें पियर या नाशपाती या बब्बूगोशा (Diabetes diet: How to consume pear for diabetes?)

नाशपाती एक हेल्दी स्नैक विकल्प हो सकता है, जो एक ही समय में आपके मीठे के शौकीन मन और सेहत दोनों को संतुष्ट करेगा. आप दिन में दो नाशपाती खा सकते हैं. यह आपका आदर्श शाम का नाश्ता हो सकता है.

नोट : मधुमेह का प्रभावी ढंग से प्रबंधन करने के लिए आपको अपने डॉक्टर द्वारा सुझाई गई सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए. आँख बंद करके किसी भी उपाय का पालन न करें. अपने मधुमेह आहार के लिए स्वस्थ खाद्य पदार्थों का चयन करें. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

और खबरों के लिए क्लिक करें.