विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 03, 2023

कोटा में आत्महत्या की घटनाओं से आनंद महिंद्रा भी दुखी, छात्रों को दिया ये संदेश, बोले- बस इतना कहना चाहता हूं कि...

उनकी दिल छू लेने वाली पोस्ट ने परीक्षा की तैयारी के दौरान छात्रों द्वारा सामना किए जाने वाले भारी दबाव के बारे में चिंता व्यक्त की.

कोटा में आत्महत्या की घटनाओं से आनंद महिंद्रा भी दुखी, छात्रों को दिया ये संदेश, बोले- बस इतना कहना चाहता हूं कि...
कोटा में आत्महत्या की घटनाओं से आनंद महिंद्रा भी दुखी, छात्रों को दिया ये संदेश

कोटा (Kota), राजस्थान (Rajasthan) में छात्र आत्महत्याओं की चिंताजनक रिपोर्टों की एक श्रृंखला के बाद, महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने बढ़ते मुद्दे को संबोधित करने के लिए सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया है. उनकी दिल छू लेने वाली पोस्ट ने परीक्षा की तैयारी के दौरान छात्रों द्वारा सामना किए जाने वाले भारी दबाव के बारे में चिंता व्यक्त की और उन्हें याद दिलाया कि उन्हें जीवन के इस चरण में अपनी योग्यता साबित करने के बजाय खुद को "खोजने" पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

महिंद्रा ने छात्रों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की और अपने शब्दों के माध्यम से सांत्वना दी.

“मैं भी इस खबर से उतना ही परेशान हूं जितना आप हैं. इतने सारे उज्ज्वल भविष्यों को ख़त्म होते देखना दुखद है. मेरे पास शेयर करने के लिए कोई महान ज्ञान नहीं है. लेकिन मैं कोटा के हर छात्र से कहना चाहता हूं कि जीवन के इस पड़ाव पर आपका लक्ष्य खुद को साबित करना नहीं बल्कि खुद को ढूंढना है. किसी परीक्षा में सफलता न मिलना आत्म-अन्वेषण की यात्रा का एक हिस्सा मात्र है. इसका मतलब है कि आपकी असली प्रतिभा कहीं और है. खोजते रहो, यात्रा करते रहो. महिंद्रा ने लिखा, आप अंततः खोज लेंगे और उजागर कर लेंगे कि आपके अंदर सर्वश्रेष्ठ क्या लाता है.

कोटा, जो अपने प्रमुख कोचिंग संस्थानों के लिए जाना जाता है, में हर साल बड़ी संख्या में छात्र आते हैं, जहां उन्हें प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में सफल होने के लिए कठोर प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है. लेकिन, प्रतिस्पर्धी शिक्षा प्रणाली के केंद्र में आत्महत्याओं की बढ़ती संख्या भी देखी गई है, जिससे यह पता चलता है कि यह प्रणाली युवा दिमागों पर कितना भारी दबाव और मानसिक स्वास्थ्य डाल सकती है.

कोटा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे दो छात्रों ने रविवार को 4 घंटे के अंतराल में आत्महत्या कर ली. अधिकारियों के अनुसार, 2023 में अब तक 24 छात्रों ने अपना जीवन समाप्त कर लिया है - जो बाकी वर्षों की अपेक्षा में सबसे ज्यादा है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
मेरी फीस माफ या आपका पर्दाफाश...कठोर निवेदन करते हुए छात्र ने प्रिसिंपल को लिखा ऐसा लेटर, हंसते-हंसते हो जाएगा बुरा हाल
कोटा में आत्महत्या की घटनाओं से आनंद महिंद्रा भी दुखी, छात्रों को दिया ये संदेश, बोले- बस इतना कहना चाहता हूं कि...
कैब बुक करते ही आया मैसेज, लिखा था कुछ ऐसा, पढ़ते ही शख्स के उड़े होश, डर के मारे तुरंत कैसिंल कर दी राइड
Next Article
कैब बुक करते ही आया मैसेज, लिखा था कुछ ऐसा, पढ़ते ही शख्स के उड़े होश, डर के मारे तुरंत कैसिंल कर दी राइड
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;