बेंजामिन नेतन्याहू का दौर खत्म, नफ्ताली बेनेट बने इजरायल के नए प्रधानमंत्री

इजरायल (Israel) में 12 साल बाद बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की सत्ता चली गई. नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) इजरायल के नए प्रधानमंत्री बने.

बेंजामिन नेतन्याहू का दौर खत्म, नफ्ताली बेनेट बने इजरायल के नए प्रधानमंत्री

नफ्ताली बेनेट इजरायल के नए प्रधानमंत्री बने. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • इजरायल में खत्म हुआ नेतन्याहू का दौर
  • नफ्ताली बेनेट बने इजरायल के नए प्रधानमंत्री
  • 27 अगस्त, 2023 तक पीएम रहेंगे बेनेट
यरूशलम:

इजरायल (Israel) में पिछले कुछ दिनों से बड़े सियासी उलटफेर की आशंका जताई जा रही थी और अब आखिरकार 12 साल बाद बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की सत्ता चली गई. नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) इजरायल के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं. बेनेट की सरकार ने बहुमत हासिल कर लिया है. इजरायल में 8 दलों की गठबंधन सरकार के पक्ष में 60 वोट पड़े जबकि विपक्ष में 59 और एक सदस्य गैरहाजिर रहे. इन दलों के गठबंधन में जो तय हुआ है उसके मुताबिक, नफ्ताली बेनेट 27 अगस्त 2023 तक पीएम रहेंगे. येर लेपिड तब तक विदेश मंत्री रहेंगे. इसी तारीख को पदों की अदला-बदली होगी.

बता दें कि हाल ही में गाजा पट्टी में इस्लामिक समूह हमास के साथ नवीनतम घातक सैन्य संघर्ष के बाद हुए सीजफायर के बाद इजरायल में विपक्षी गतिविधियां तेज हो गई थीं. विपक्षी दलों ने सरकार द्वारा की गई कठोर कार्रवाई की निंदा की थी.

खतरे में इजरायली PM बेंजामिन नेतन्याहू की कुर्सी, अपदस्थ करने के लिए विरोधियों ने शुरू की मुहिम

71 वर्षीय बेंजामिन नेतन्याहू जो धोखाधड़ी, रिश्वतखोरी और विश्वास के उल्लंघन के आरोपों का सामना कर रहे हैं, (जिससे वे इनकार करते रहे हैं) राजनीतिक उथल-पुथल की अवधि के दौरान सत्ता में रहे हैं. वहां दो साल के भीतर चार अनिर्णायक चुनाव हुए हैं.

गौरतलब है कि मार्च में हुई वोटिंग में नेतन्याहू की पार्टी को सबसे अधिक सीटें मिलीं थीं लेकिन वह फिर से सरकार बनाने में विफल रहे थे. जिसके बाद से 57 वर्षीय येर लेपिड एक विविधतापूर्ण गठबंधन की मांग कर रहे थे, जिसे इजरायली मीडिया ने परिवर्तन के लिए एक गुट करार दिया था.

इजराइल के हवाई हमलों में 42 लोगों की मौत, गाजा सिटी में तीन इमारतें नष्ट


उस समय बेंजामिन नेतन्याहू को उनके पद से हटाने के लिए लेपिड ने सत्ता साझा करने का फार्मूला भी पेश किया था. जिसके तहत रोटेशन क्रम में 49 वर्षीय नफ्ताली बेनेट को पहले कार्यकाल की सेवा की पेशकश की गई थी, जिसे बेनेट ने स्वीकार करने का फैसला किया और नतीजतन रविवार को वह देश के प्रधानमंत्री बन गए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रणनीति : भारत-इजरायल दोस्ती के मायने