'Chinese army in india'

- 24 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Edited by: चंदन वत्स |रविवार जुलाई 10, 2022 09:09 PM IST
    सेना ने अपने कर्मियों को मंदारिन भाषा में दक्षता प्रदान करने के लिए हाल में राष्ट्रीय रक्षा विश्वविद्यालय (आरआरयू), गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय (सीयूजी) और शिव नाडर विश्वविद्यालय (एसएनयू) के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं.
  • India | Reported by: विष्णु सोम |शुक्रवार फ़रवरी 4, 2022 12:28 AM IST
    लद्दाख की गलवान घाटी में 2020 में हुई झड़प में चीन को उससे कहीं ज्यादा नुकसान हुआ था, जितना कि उसने दावा किया था. साथ ही, कई चीनी सैनिक तेज धारा वाली नदी पार करते हुए अंधेरे में डूब गए थे. ऑस्ट्रेलिया के एक अखबार ‘द क्लैक्सन’ में बुधवार को यह दावा किया गया.
  • India | Edited by: प्रवीण प्रसाद सिंह |शुक्रवार अक्टूबर 1, 2021 01:03 AM IST
    चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के करीब 100 सैनिक वास्तविक नियंत्रण रेखा का उल्लंघन कर पिछले महीने उत्तराखंड के बाराहोती सेक्टर में घुस आए थे. सूत्रों ने यह जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि यह घटना 30 अगस्त की है और चीनी सैनिक कुछ घंटे बाद वापस लौट गए.
  • India | Reported by: भाषा |शनिवार जुलाई 31, 2021 07:33 AM IST
    बारहवें दौर की वार्ता विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा अपने चीनी समकक्ष वांग यी को इस बात से दो टूक अवगत करा देने के करीब दो हफ्ते बाद हो रही है कि पूर्वी लद्दाख में मौजूदा स्थिति के लंबा खींचने का प्रभाव द्विपक्षीय संबंधों पर नकारात्मक रूप से पड़ता नजर आ रहा है.
  • India | Reported by: भाषा |शनिवार फ़रवरी 27, 2021 07:11 AM IST
    विदेश मंत्री एस जयशंकर की उनके चीनी समकक्ष वांग यी के साथ गुरुवार को 75 मिनट तक टेलीफोन पर हुई बातचीत का विवरण जारी करते हुए विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि चीन से कहा गया है कि दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर पिछले साल से गंभीर असर पड़ा है. गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण सैन्य गतिरोध पिछले वर्ष 5 मई को शुरू हुआ था. मंत्रालय के अनुसार, ‘‘विदेश मंत्री ने कहा कि सीमा संबंधी प्रश्न को सुलझाने में समय लग सकता है लेकिन हिंसा होने, और शांति तथा सौहार्द बिगड़ने से संबंधों पर गंभीर असर पड़ेगा.’’
  • India | Reported by: राजीव रंजन |शनिवार जनवरी 9, 2021 03:50 PM IST
    भारतीय जवानों ने सीमा में घुसे चीनी सैनिक को पकड़ लिया है. जिन हालात में चीनी सैनिक एलएसी पार करके भारतीय सीमा में दाखिल हुआ उसकी जांच की जा रही है. बता दें कि इससे पहले अक्टूबर 2020 में भी एक चीनी सैनिकों को भारतीय सीमा में पकड़ा गया था. बाद में उसे चीन के सुपुर्द कर दिया गया था.
  • India | Reported by: भाषा |गुरुवार दिसम्बर 31, 2020 05:24 PM IST
    चतुर्वेदी ने पत्र में कहा, ‘‘यह गतिरोध व्यापार युद्ध के कारण आया है और दोनों जहाज चीनी बंदरगाहों पर लंगर डालने के लिए मजबूर हैं. जहाजों को चीनी अधिकारियों ने अपने माल को उतारने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था और चालक दल को राहत देने के लिए अन्य नाविकों को भेजने की अनुमति भी नहीं थी.”
  • India | Reported by: ANI, Translated by: तूलिका कुशवाहा |सोमवार दिसम्बर 14, 2020 12:31 PM IST
    इसके पहले सैन्य बल 10 दिनों तक के युद्ध के बराबर हथियार और गोला-बारूद का संग्रह रखते रहे हैं लेकिन इस बार न्यूनतम 15 दिनों के लेवल पर कर दिया गया है, ताकि चीन और पाकिस्तान की ओर से दो फ्रंट पर युद्ध की स्थिति में सैन्य बल तैयार रहें.
  • India | Reported by: राजीव रंजन, Edited by: तूलिका कुशवाहा |सोमवार अक्टूबर 19, 2020 03:29 PM IST
    न्यूज एजेंसी ANI ने सोमवार को बताया कि सुरक्षा बलों ने लद्दाख में सीमा के पास एक चीनी सैनिक को पकड़ा है. यह सैनिक चुमार-डेमचोक इलाके में पकड़ा गया है. एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से कहा कि चीनी सैनिक अनजाने में भारतीय सीमा में घुस आया हो सकता है.
  • India | Edited by: तूलिका कुशवाहा |मंगलवार सितम्बर 8, 2020 12:16 PM IST
    चीन की ओर से सोमवार को भारत पर वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control) के करीब हवाई फायरिंग (air shots fired) किए जाने के आरोप लगाए गए थे, जिसके बाद भारत ने इसका जवाब दिया है. भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा है कि उसने ऐसी किसी घटना को अंजाम नहीं दिया है, उल्टे चीन ने 7 सितंबर को फायरिंग की है. भारतीय सेना ने एक बयान जारी कर कहा कि चीन हकीकत के उलट बयान देकर अपने देश और दुनिया के लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. सेना ने यह भी कहा कि वो सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर प्रतिबद्ध है लेकिन चीन की ओर से लगातार आक्रामक गतिविधियां की जा रही हैं.
और पढ़ें »
'Chinese army in india' - 9 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com