गंदे कॉलेस्ट्रोल से धमिनयां होने लगती हैं बंद, ऐसे में वक्त रहते इन चीजों से कम हो सकता है High Cholesterol 

Bad Cholesterol: गंदा कॉलेस्ट्रोल रक्त धमनियों को अवरुद्ध करने लगता है जिससे अलग-अलग अंगों में दर्द की दिक्कत भी रहने लगती है. ऐसे में बढ़ते कॉलेस्ट्रोल को कम करने के लिए कुछ तरीके आजमाए जा सकते हैं. 

गंदे कॉलेस्ट्रोल से धमिनयां होने लगती हैं बंद, ऐसे में वक्त रहते इन चीजों से कम हो सकता है High Cholesterol 

How To Reduce High Cholesterol: कॉलेस्ट्रोल लेवल्स कम करते हैं कुछ घरेलू उपाय. 

High Cholesterol: शरीर में गुड कॉलेस्ट्रोल होता है जो स्वास्थ्य को दुरुस्त बनाए रखता है. वहीं, जब कॉलेस्ट्रोल गंदा होने लगता है तो रक्त धमनियों में फंसने लगता है जिससे कई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें होने लगती हैं. गंदा कॉलेस्ट्रोल ही हार्ट अटैक का कारण बनता है. इसके अलावा, बैड कॉलेस्ट्रोल (Bad Cholesterol) के कारण हाथ-पैरों में दर्द, मोटापा और दिल से जुड़ी अलग-अलग दिक्कतें होने लगती हैं. ऐसे में अगर आप भी बुरे कॉलेस्ट्रोल से परेशान हैं तो यहां जानिए किस तरह इस बढ़ते कॉलेस्ट्रोल को कम किया जा सकता है और कैसे गंदे कॉलेस्ट्रोल से पाएं छुटकारा. 

क्यों अचानक से बढ़ने लगता है यूरिक एसिड, जानिए High Uric Acid में किन चीजों से दूरी बनानी है जरूरी 

गंदा कॉलेस्ट्रोल कैसे कम करें | How To Reduce Bad Cholesterol 

यहां खानपान की कुछ ऐसी चीजों का जिक्र किया जा रहा है जिनके सेवन से बुरा कॉलेस्ट्रोल कम होने में मदद मिलती है. इन फूड्स का सेवन दिल की सेहत को भी दुरुस्त रखता है. 

खांसते-खांसते बुरा हो गया है हाल तो इन नुस्खों को आजमा सकते हैं आप, खांसी से मिलेगी राहत 

सोया 

सोयाबीन का सेवन हाई कॉलेस्ट्रोल को कम करने में असर दिखाता है. सोयाबीन के अलावा सोया प्रोडक्ट्स जैसे टोफू और सोया मिल्क को भी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं. इन फूड्स से शरीर को अच्छी मात्रा में प्रोटीन भी मिलता है और कॉलेस्ट्रोल लेवल्स कम होने लगते हैं सो अलग. 

बींस 

बींस सोल्यूबल फाइबर के अच्छे स्त्रोत होते हैं. इनके सेवन से पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है और इन्हें पचाना भी आसान है. बींस को डाइट का हिस्सा बनाने पर कॉलेस्ट्रोल लेवल्स (Cholesterol Levels) कम हो सकते हैं. राजमा भी खाया जा सकता है. 

फल 

खानपान में फलों को शामिल करने पर भी कॉलेस्ट्रोल कम होने में मदद मिल सकती है. सेब, अंगूर, स्ट्रॉबेरीज और सिट्रस फ्रूट्स में पेक्टिन होता है. पेक्टिन एक तरह का सोल्यूबल फाइबर है जो बुरे कॉलेस्ट्रोल को कम करने और सेहत को दुरुस्त रखने में मददगार है. 

ओट्स 

सेहत अच्छी रखने के लिए अक्सर ही खानपन में ओट्स शामिल किया जाता है. ओट्स वजन कम करने में तो असर दिखाता ही है, इसके साथ ही ओट्स के सेवन से एलडीएल (LDL) यानी बुरा कॉलेस्ट्रोल कम होने में मदद मिलती है. ओट्स दिल की सेहत अच्छी रखने वाली डाइट में भी शामिल किया जाता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.