शाहजहां आगे और पुलिस पीछे, सफेद शर्ट-पैंट में दिखा बेखौफ; ED ने पूछा सवाल

मीडिया से बातचीत में बंगाल के सीनियर पुलिस अधिकारी सुप्रतिम सरकार ने सवाल किया कि केंद्रीय एजेंसी ने शाहजहां (Shahjahan Shekh Arrest) को गिरफ्तार क्यों नहीं किया. वहीं ईडी के सूत्रों ने पलटवार किया.

नई दिल्ली:

संदेशखाली के ताकतवर नेता शेख शाहजहां को लंबी फरारी के बाद आज तड़के गिरफ्तार (Shahjahan Shekh Arrest) कर लिया गया. गिरफ्तारी के कुछ ही देर बाद उसे अदालत में पेश किया गया. वह सफेद शर्ट और सफेद पैंट और ग्रे जैकेट पहने वह अदालत में पेश हुआ. दबंग अंदाज में वह आगे-आगे चल रहा था और पुलिसकर्मी उसके पीछे चल रहे थे. अदालत में दाखिल होते समय वह बहुत ही निडर नजर आ रहा था. उसके माथे पर एक शिकन तक नहीं दिख रही थी. मीडिया कर्मियों ने जब उससे सवाल पूछने की कोशिश की तो उसने अपनी उंगलियां हिला दीं. शाहजहां शेख बहुत ही बेखौफ नजर आ रहा था.

ये भी पढ़ें-55 दिनों से फरार शाहजहां शेख को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया, पेशी का VIDEO आया सामने 

55 दिनों से फरार शाहजहां शेख हुआ गिरफ्तार

टीएमसी नेता शाहजहां शेख पिछले 55 दिनों से फरार चल रहा था, उसे आज  पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना से गिरफ्तार कर लिया गया. उस पर संदेशखाली की महिलाओं ने गंभीर आरोप लगाए हैं. तृणमूल के कद्दावर नेता शाहजहां और उसके सहयोगियों पर जमीन हड़पने, जबरन वसूली और धमकी देने समते यौन उत्पीड़न के भी आरोप लगे हैं. शाहजहां को गिरफ्तार करने वाली बंगाल पुलिस ने कहा कि कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश ने उनके हाथ बांध दिए हैं, वहीं अदालत ने बाद में स्पष्ट किया कि उसने राज्य पुलिस या ईडी या सीबीआई को उसे गिरफ्तार करने से नहीं रोका. 

मीडिया से बातचीत में बंगाल के सीनियर पुलिस अधिकारी सुप्रतिम सरकार ने सवाल किया कि केंद्रीय एजेंसी ने शाहजहां को गिरफ्तार क्यों नहीं किया. वहीं ईडी के सूत्रों ने पलटवार करते हुए कहा कि शाहजहां की गिरफ्तारी की स्पीड से पता चलता है कि वह उनके साथ था. 

शाहजहां की गिरफ्तारी पर ED का सवाल

ईडी के एक अधिकारी ने कहा कि, "हाईकोर्ट ने स्पष्टीकरण दिया और शाहजहां को तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया, इससे साबित होता है कि वह उनके साथ था. अदालत ने एक मामले में कार्रवाई रोक दी थी, लेकिन तीन हत्या के मामलों में नाम आने और बिजली विभाग के अधिकारियों पर हमले को लेकर गैर जमानती वारंट जारी होने, यौन उत्पीड़न और ज़मीन हड़पने के आरोपों के बावजूद  शेख शाहजहां को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया."

बता दें कि राशन घोटाला मामले में 5 जनवरी को शाहजहां के घर पर छापेमारी करने गई ईडी की टीम पर भी हमला किया गया था.  अधिकारी ने कहा कि "हमें जानकारी मिली थी कि उसके घर पर भारी मात्रा में हथियार और करोड़ों की नकदी थी, इसीलिए भीड़ के हमले की साजिश रच शाहजहां को भगाने में मदद की गई. शाहजहां के हथियार, नकदी और नकदी को छिपाने में बंगाल पुलिस और सरकार की भूमिका और फोन की जांच होनी चाहिए.''

"शाहजहां से हिरासत में पूछताछ की जरूरत"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ईडी अधिकारी ने कहा कि कथित राशन वितरण घोटाले और जमीन हड़पने के आरोपों की तह तक जाने के लिए शाहजहां से हिरासत में पूछताछ की जरूरत है. हम बंगाल पुलिस की गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं.'' बता दें कि शाहजहां और उनके सहयोगियों के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया पर टीएमसी ने कहा था कि हाई कोर्ट का एक आदेश शाहजहां की गिरफ्तारी की राह में राज्य पुलिस की कार्रवाई में बाधा बन रहा है.