विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Apr 15, 2022

रामनवमी पर हिंसा : मध्य प्रदेश के खरगोन के बाद गुजरात के खंभात में चला बुलडोजर 

रामनवमी के दिन हुई सांप्रदायिक हिंसा (Ram Navami Violence Gujarat) के बाद शकरपुरा इलाके से अवैध कब्जा हटाने के लिए प्रशासन ने शुक्रवार को यहां बुलडोजर चलवाया. 10 अप्रैल को रामनवमी के जुलूस पर शकरपुरा इलाके में हमला हुआ था.

रामनवमी पर हिंसा : मध्य प्रदेश के खरगोन के बाद गुजरात के खंभात में चला बुलडोजर 
Ramnavami : रामनवमी पर गुजरात के खंभात जिले में हुई थी हिंसा
अहमदाबाद:

मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में रामनवमी पर हुई हिंसा (Ram Navami Violence) के बाद कई आरोपियों के घर और दुकानों पर बुलडोजर चला था और अब गुजरात के आणंद जिले के खंभात (Gujarat Khambhat) कस्बे में ऐसा ही देखने को मिला है.रामनवमी के दिन हुई सांप्रदायिक हिंसा के बाद शकरपुरा इलाके से अवैध कब्जा हटाने के लिए प्रशासन ने शुक्रवार को यहां बुलडोजर चलवाया. 10 अप्रैल को रामनवमी के जुलूस पर शकरपुरा इलाके में हमला हुआ था. गुजरात के अलावा बीजेपीशासित मध्य प्रदेश में हिंसा के बाद ऐसी कार्रवाई हुई थी. आणंद के जिलाधिकारी एम. वाई. दक्षिणी ने बताया कि अवैध कब्जे, लकड़ी और कंक्रीट के अवैध निर्माण सहित सड़कों के किनारे खड़ी झाड़ियों पर भी बुलडोजर चलवाया जा रहा है, क्योंकि रामनवमी को जुलूस पर पथराव करने के बाद अराजकतत्व इन्हीं झाड़ियों में छुप रहे थे.

दक्षिणी ने कहा, बदमाशों ने झाड़ियों की आड़ में छुपकर जुलूस पर हमला किया. इसलिए हमने शकरपुरा में सड़क किनारे ऊगी झाड़ियों और सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे को हटाने का फैसला लिया है. पूरे इलाका साफ होने तक यह अभियान जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि पहले दिन बुलडोजर और ट्रैक्टर की मदद से छह-सात अवैध निर्माण गिराए गए जिनमें से कुछ आरोपियों के थे.

कांग्रेस विधायक गयासुद्दीन शेख और इमरान खेडावाला ने इस अभियान को असंवैधानिक और मानवाधिकारों का उल्लंघन बताया. दोनों विधायकों ने राजस्व मंत्री राजेन्द्र त्रिवेदी से फोन पर बात की और इस कार्रवाई को तत्काल रोकने का अनुरोध किया. उन्होंने आरोप लगाया कि कलेक्टर ने तय प्रक्रिया का पालन किए बगैर ही यह अभियान शुरू किया है. विपक्षी विधायकों ने कहा कि इन संपत्तियों के मालिकों को पहले नोटिस भेजा जाना चाहिए था फिर निर्माण की वैधता के संबंध में अपने दस्तावेज और साक्ष्य पेश करने का मौका दिया जाना चाहिए था.

उल्लेखनीय है कि शकरपुरा में 10 अप्रैल, रामनवमी के जुलूस पर पथराव के बाद खंभात में दो संप्रदायों के बीच झड़प हो गई थी. आणंद के एसपी अजित राजिआन ने इससे पहले कहा था कि खंभात कस्बे में हुई हिंसा कस्बे में मुसलमानों का प्रभाव स्थापित करने के लिए स्लीपर मॉड्यूल द्वारा की गई साजिश का हिस्सा है. पुलिस ने इस संबंध में अभी तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;