सुप्रीम कोर्ट में वैक्सीन पर सुनवाई के दौरान जब सुनाई देने लगी सोनिया गांधी की आवाज

कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले एक अजीब स्थिति तब पैदा हो गई जब एकाएक सोनिया गांधी की आवाज सुनाई देने लगी.

सुप्रीम कोर्ट में वैक्सीन पर सुनवाई के दौरान जब सुनाई देने लगी सोनिया गांधी की आवाज

सोनिया गांधी के CWC में चल रहे भाषण की आवाज सुनाई दे रही थी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले एक अजीब स्थिति तब पैदा हो गई जब एकाएक सोनिया गांधी की आवाज सुनाई देने लगी. कांग्रेस अध्यक्ष की आवाज सुनते ही सब हंस पड़े. दरअसल सुप्रीम कोर्ट में वैक्सीन आदि को लेकर सुनवाई शुरू होनी थी, तभी कपिल सिब्बल ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता को फोन कर कंट्रोल रूम को उन्हें अनम्यूट करने को कहा.  इसके बाद पी चिदंबरम ने भी आग्रह किया तो तुषार मेहता ने उनको भी अनम्यूट करने के लिए कहा. तभी सोनिया गांधी की आवाज सुनाई देने लगी जो कि कोविड पर ही बोल रही थीं. तब सब हंसने लगे और कपिल सिब्बल ने कहा कि इसे बंद कीजिए. 


सोनिया गांधी के CWC में चल रहे भाषण की ये आवाज सुनाई दे रही थी. जो कि चिदंबरम की ओर से सुनवाई दे रही थी फिर उन्होंने उसे बंद कर दिया. बताते चलें कि आज वैक्सीनेशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो रही है. इस सुनवाई से पहले रविवार शाम 218 पेज के हलफनामे में केंद्र सरकार ने कोर्ट के सभी सवालों के विन्दुवार जवाब दिए हैं. यहां उन्होंने केंद्र सरकार ने अपनी वैक्सीनेशन पॉलिसी का बचाव भी किया. केंद्र ने कहा  बड़े जनहित में ये फैसला कार्यपालिका पर छोड़ दें, किसी भी न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लिया था, उन्होंने  27 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने चार मुद्दों पर केंद्र से जवाब मांगा था. पहला मुद्दा ऑक्सीजन की आपूर्ति, राज्यों की अनुमानित आवश्यकता, केंद्रीय पूल से ऑक्सीजन के आवंटन का आधार, एक गतिशील आधार पर राज्यों की आवश्यकता के लिए संचार कीअपनाई गई कार्यप्रणाली को लेकर था. दूसरे मुद्दे में कोविड बेड समेत महत्वपूर्ण चिकित्सा आवश्यकताओं में वृद्धि शामिल है. तीसरे मुद्दे के तहत  रेमेडेसिविर, फेविपिविर सहित आवश्यक दवाओं की उचित उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदम आता है. और चौथे मुद्दे में टीकाकरण को लेकर सवाल किए गए थे.