कोरोना के मामलों के बढ़ने के पीछे क्या वाकई नए वेरिएंट की भूमिका? 3-4 दिनों में स्थिति होगी साफ - सूत्र

जीनोम एनालिसिस के मद्देनजर महाराष्ट्र में मुंबई और केरल के अलावा पंजाब और बेंगलुरु से भी सैंपल मंगवाए गए हैं

कोरोना के मामलों के बढ़ने के पीछे क्या वाकई नए वेरिएंट की भूमिका? 3-4 दिनों में स्थिति होगी साफ - सूत्र

प्रतिकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

भारत में कोरोनावायरस के मामले दोबारा से बढ़ने के पीछे क्या वाकई नए वेरिएंट की भूमिका है. इसको लेकर स्थिति 3-4 दिनों में साफ होगी. महाराष्ट्र और केरल दोनों राज्यों से पिछले 1 महीने में करीब 800- 900 सैंपल्स जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं. जीनोम एनालिसिस के मद्देनजर महाराष्ट्र में मुंबई और केरल के अलावा पंजाब और बेंगलुरु से भी सैंपल मंगवाए गए हैं. यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने दी है.

अब तक करीब 6000 जीनोम सीक्वेंसिंग हो चुकी है. केरल में मामले बढ़ने के पीछे अब तक वैसी जानकारी नहीं मिली है की उसको जीनोम से जोड़ पाएंगे. केरल और मुंबई में माइक्रो लेवल पर मॉनिटरिंग और नज़र रखी जा रही है. इस बात की कोशिश की जा रही है कि क्या नए जगहों पर क्लस्टर बन रहा है. यूके स्ट्रेन से जितनी तबाही यूरोप में हुई उतनी हमारे यहां नहीं हुई हैं. ब्राजील और साउथ अफ्रीका का क्लाइमेट कंडीशन लगभग एक जैसी है. चिंता है इन दोनों स्ट्रेन को लेकर पर अब तक कुछ ऐसा एस्टेब्लिश नहीं हुआ है जिससे इसको घातक करार दिया जा सके. महाराष्ट्र में करीब 14 जिलों में नया राइज देखा गया है.

कोरोना के दौरान भारत के हेल्थ सेक्टर ने जो मजबूती दिखाई उसे दुनिया ने देखा: PM मोदी

बता दें, भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 10,584 नए मामले सामने आने के साथ देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,10,16,434 हो गई है. इनमें से 1.07 करोड़ से अधिक लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 78 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों कुल संख्या बढ़कर 1,56,463  हो गई है.

अमरावती में COVID-19 का कहर : दोबारा लागू लॉकडाउन का पहला दिन, पसरा सन्नाटा

आकंड़ों के अनुसार, कुल 1,07,12,665 लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही, देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 97.24 प्रतिशत हो गई. वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.42 प्रतिशत है. मंत्रालय के अनुसार, देश में अभी 1,47,306 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 1.34 प्रतिशत है. देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख से अधिक हो गई थी. (इनपुट- भाषा से भी)

Video :देश में COVID-19 के एक्टिव केस फिर डेढ़ लाख के पार


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com