एशिया-प्रशांत व्यक्तिगत स्वास्थ्य सूची में भारत दसवें पायदान पर रहा

व्यक्तिगत स्वास्थ्य सेवा की प्रगति को लेकर हाल ही में जारी की गई एशिया-प्रशांत के 11 देशों की सूची में भारत 10वें पायदान पर रहा.

एशिया-प्रशांत व्यक्तिगत स्वास्थ्य सूची में भारत दसवें पायदान पर रहा

सांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली:

व्यक्तिगत स्वास्थ्य सेवा की प्रगति को लेकर हाल ही में जारी की गई एशिया-प्रशांत के 11 देशों की सूची में भारत 10वें पायदान पर रहा. ''इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट'' (ईआईयू) ने अपनी ''एशिया-प्रशांत व्यक्तिगत स्वास्थ्य सूची'' रिपोर्ट में इस क्षेत्र के 11 देशों की स्वास्थ्य सेवा से संबंधित तैयारियों का जायजा लिया. इन देशों में ऑस्ट्रेलिया, चीन, जापान, भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, ताइवान, थाईलैंड और न्यूजीलैंड शामिल हैं. इस दौरान सही समय पर सही व्यक्ति को उचित स्वास्थ्य सेवा की उपलब्धता को लेकर आंकलन किया गया.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस व्यक्तिगत स्वास्थ्य सूची में चार श्रेणियों के अंतर्गत व्यक्तिगत स्वास्थ्य से संबंधित 27 विभिन्न संकेतकों को मापा गया. इनमें नीति संदर्भ, स्वास्थ्य सूचना, व्यक्तिगत प्रौद्योगिकी और स्वास्थ्य सेवाएं शामिल हैं. इसके मुताबिक, स्वास्थ्य सूचना संकेतक के तहत भारत 41 अंकों के साथ 10वें पायदान पर रहा.


वहीं, स्वास्थ्य सेवाओं के तहत भारत 24 अंकों के साथ 11वें पायदान पर रहा। इस दौरान व्यक्तिगत स्वास्थ्य सेवा के संबंध में योजना, संगठन और सेवाओं की उपलब्धता को ध्यान में रखा गया. इसी तरह, व्यक्तिगत प्रौद्योगिकी संकेतक के अंतर्गत भारत 30 अंकों के साथ नौवें पायदान पर रहा. वहीं, नीति संदर्भ के तहत भारत 48 अंकों के साथ पांचवें पायदान पर रहा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रिपोर्ट के मुताबिक, एशिया-प्रशांत के देशों में सबसे अच्छा प्रदर्शन सिंगापुर का रहा जबकि इंडोनेशिया इस सूची में सबसे निचले पायदान पर रहा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)