इन 10 बेहतरीन टिप्स को अपनाकर इस बार सर्दी में बनाएं परफेक्ट सरसों का साग

सर्दी के मौसम में हम मक्की की रोटी और पंजाबी सरसों का साग खाने के लिए बहुत ही उत्सुक रहते हैं, क्योंकि सिर्फ यही वह मौसम होता है जिसमें साग मिलता है.

इन 10 बेहतरीन टिप्स को अपनाकर इस बार सर्दी में बनाएं परफेक्ट सरसों का साग

खास बातें

  • यही वह मौसम होता है जिसमें साग मिलता है.
  • यह खाने में काफी हेल्दी भी होता है.
  • सरसों के साग का तैयार करना आसान नहीं है.

भारत में सर्दियों ने दे दस्तक दे दी है और हमें अपने घर के फ्रिज में बथुआ, पालक, चौलाई, मेथी और सरसों जैसी सभी हरी सब्जियां दिखाई देने लगी हैं. सर्दी के मौसम में हम मक्की की रोटी और पंजाबी सरसों का साग खाने के लिए बहुत ही उत्सुक रहते हैं, क्योंकि सिर्फ यही वह मौसम होता है जिसमें साग मिलता है. यह खाने में काफी हेल्दी भी होता है. अन्य हरी सब्जियों की तुलना में सरसों के साग का तैयार करना आसान नहीं है. साग को साफ करना, धोना और बनाते वक्त सही तकनीक का इस्तेमाल करना, इन सब बातों का ध्यान रखना होता है, तभी आप एक परफेक्ट साग बना सकते हैं.

सरसों का साग ताजे सरसों के पत्तों में पालक और बथुआ डालकर बनाया जाता है. इसके बाद देसी घी में हींग, अदरक, लहसुन, प्याज और टमाटर डालकर तड़का तैयार किया जाता है जिसे साग में डालने से स्वाद और भी बढ़ जाता है. अगर आप भी ऐसा ही परफेक्ट पंजाबी साग बनाना चाहते हैं तो हम आपको नीचे कुछ बेहतरीन टिप्स बताने जा रहे हैं जिन्हें आजमाकर आप भी एक बढ़िया स्वादिष्ट साग बना सकते हैं.

Cooking Tips: कैसे फ्राइंग पैन में बनाएं नरम चॉकलेट केक, देखें वीडियो


सरसों का साग बनाने के लिए टिप्स:


* सरसों के पत्ते और पालक को बिना ढके पकाया जाता है क्योंकि हरी सब्जियों में वाष्पशील एसिड होता है जिसे निकलने देना चाहिए वरना हरी सब्जियां अपना रंग खो देती हैं और स्वाद में कड़वी हो जाती हैं.
* सरसों के पत्तों में एक अनोखा स्वाद होता है जो हल्का कड़वा होता है लेकिन तालू को काफी भाता है; कड़वाहट को कम करने के लिए, सरसों के पत्तों को पहले पालक और बथुआ के साथ उबालकर पकाया जाता है, क्योंकि बाद में तड़के के साथ पकाया जाता है.
* इसके अलावा कद्दूकस किया हुआ गुड़ और पालक मिलाने से सरसों की पत्तियों के कड़वे स्वाद को कम करने में मदद मिलती है.
* आप साग में प्रोसेसड मक्खन नहीं चाहते तो घर पर तैयार अनसाल्टेड सफेद मक्खन के साथ तैयार सरसों का साग को प्राथमिकता दें.
* साग की बनावट आपकी व्यक्तिगत पसंद पर निर्भर करती है, अधिकांश लोग मोटी बनावट को पसंद कर सकते हैं, कई स्मूद पसंद करते हैं. इसे स्मूद बनाने के लिए पहले ब्लेंड कर लें और फिर साग को पकाएं.
* इसमें भिन्नता लाने के लिए आप इसमें एक बेबी शलजम, एक छोटी मूली या एक गाजर जोड़ सकते हैं.
* अगर आपके के पास बथुआ उपलब्ध नहीं है, तो बथुए  के बजाय पालक की समान मात्रा जोड़ सकते हैं.
* साग के ऊपर नमकीन मक्खन न डालें क्योंकि इससे केवल नमक की मात्रा बढ़ सकती है.
* आप थोड़ा एक्ट्रा साग बनाकर कम से कम 4-5 दिनों के लिए रेफ्रिजरेटर में स्टोर करके रख सकते हैं.
* सरसो के साग को गाढ़ा करने के लिए आप मक्के का आटा और घी मिला कर साग को एक समृद्ध और पौष्टिक स्वाद प्रदान कर सकते हैं.

Cooking Tips: सिर्फ 30 मिनट में झटपट बनाएं यह हेल्दी लेमन चिकन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सरसों का साग और मक्की की रोटी बनाने के इस पर क्लिक करें.