NEET 2024: नीट की है तैयारी हो तो केवल बायो से बात नहीं बनेंगी, केमिस्ट्री में इन टॉपिक्स को करना होगा Strong

NEET UG 2024: नीट 2024 परीक्षा के होने में अभी पांच महीने बाकी है. ऐसे में स्टूडेंट की तैयारी जोरो पर है. लेकिन क्या आपको पता है केमिस्ट्री के इन टॉपिक्सों पर अच्छी पकड़ करके भी नीट में स्कोरिंग की जा सकती है.

NEET 2024: नीट की है तैयारी हो तो केवल बायो से बात नहीं बनेंगी, केमिस्ट्री में इन टॉपिक्स को करना होगा Strong

NEET 2024 की है तैयारी हो तो केवल बायो से बात नहीं बनेंगी, जानिए क्या करना होगा

नई दिल्ली:

How to Prepare for NEET Exam 2024: नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने आगामी वर्ष के लिए एग्जाम कैलेंडर 2024 जारी (NTA Exam Calendar 2024) कर दिया है. जिसके मुताबिक नीट 2024 यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन 5 मई को किया जाएगा. फिलहाल नीट एस्पिरेंट्स (NEET Aspirants)  इस परीक्षा की तैयारियों में जुटे हुए हैं. अगर आप पहली बार नीट की परीक्षा दे रहे हैं, तो यह खबर आपके काम की है. अगर आप नीट में अपने पहले ही प्रयास में सफल होना चाहते हैं तो इन विषयों पर फोकस करना बेहद जरूरी है. मेडिकल प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए स्टूडेंट का सबसे पहले नीट यूजी सिलेबस का गहन नॉलेज होना चाहिए. नीट परीक्षा पास करने का मुख्य उद्देश्य स्टूडेंट का डॉक्टर बनना या एमबीबीएस की डिग्री हासिल करना है. ऐसे में बायोलॉजी विषय पर स्टूडेंट की अच्छी पकड़ का होना बेहद जरूरी है. बायोलॉजी के साथ-साथ केमिस्ट्री विषय में भी अच्छा स्कोरिंग की जा सकती है. इसके लिए नीट यूजी के केमिस्ट्री सिलेबस को अच्छी तरह पढ़ें. केमिस्ट्री में महत्वपूर्ण लगने वाले टॉपिक पर छोटे नोट्स बनाएं और उन्हें बार-बार दोहराते रहें. 

NEET Exam 2024: केमिस्ट्री सिलेबस

केमिस्ट्री के तीन पार्ट होते हैं- फिजिकल केमिस्ट्री, आर्गेनिक केमिस्ट्री और इनआर्गेनिक केमिस्ट्री. फिजिकल केमिस्ट्री में केमिस्ट्री की मूल अवधारणाएं-स्टोइकोमेट्री, समकक्षों की अवधारणाएं, मोल अवधारणा और एटॉमिक, मॉलिक्यूलस मास शामिल हैं. पदार्थ की अवस्थाएं-गैस, तरह पदार्थ और ठोस पदार्थों के गुणों के साथ इनके इंटर मॉलिक्यूलर फोर्स की अवधारणा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए. थर्मोडायनामिक्स और थर्मोकेमिस्ट्री के सभी टॉपिक को ध्यान से पढ़ें. 

JEE Advanced 2024: आईआईटी दाखिले की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खबर, IIT मद्रास ने जारी किया जेईई एडवांस्ड का शेड्यूल

आर्गेनिक केमिस्ट्री में इंपोर्टमेंट टॉपिक्स की बात करें तो आर्गेनिक केमिस्ट्री में केमिकल रीएक्शन होते हैं. ऐसे में कार्बनिक यौगिकों की संरचना, प्रतिक्रियाओं और गुण की अच्छी नॉलेज रखें. नीट यूजी 2023 आर्गेनिक केमिस्ट्री सिलेबस में स्टूडेंट को हाइड्रोकार्बन- एल्केन्स, एल्केन्स, एल्केनीज़ और एरोमैटिक हाइड्रोकार्बन की तैयारी और प्रतिक्रियाओं का अध्ययन शामिल है. ऑक्सीजन और नाइट्रोजन युक्त कार्बनिक यौगिक में कार्बोनिल यौगिक, कार्बोक्जिलिक एसिड, ईथर, फिनोल, अल्कोहल और एमाइन महत्वपूर्ण टॉपिक हैं. पोलीमराइजेशन के वर्गीकरण और प्रतिक्रियाओं का अध्ययन करने के साथ कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और न्यूक्लिक एसिड जैसे बायोमोलेक्यूल्स की संरचना और भूमिका को अच्छी तरह समझना बेहद जरूरी है. 

CBSE Board Exam 2024: सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं, 12वीं परीक्षा, एग्जाम शेड्यूल और प्रैक्टिकल परीक्षा पर आई लेटेस्ट अपडेट

नीट यूजी इनआर्गेनिक केमिस्ट्री सिलेबस में पीरियोडिक टेबल और केमिकल बॉन्डिंग को समझना बेहद जरूरी है. कोऑर्डिनेशन कंपाउंड, कोऑर्डिनेशन कंपाउंड में बॉन्डिंग, नामकरण और चुंबकीय विशेषताओं का अध्ययन करना महत्वपूर्ण है. इनआर्गेनिक केमिस्ट्री में पी-ब्लॉक एलिमेंट के गुणों और अनुप्रयोगों को अच्छी तरह पढ़ना जरूरी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

JEE और NEET की फ्री कोचिंग, सरकारी कराएगी, जानें कहां और कैसे मिलेगा एडमिशन