भारत ने वित्त वर्ष 2021-22 में रिकॉर्ड 418 अरब डॉलर का निर्यात किया

आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2021-22 के दौरान भारत का वस्तु व्यापार (निर्यात एवं आयात) एक खरब डॉलर के पार चला गया क्योंकि देश का आयात भी 610 अरब डॉलर के अब तक के सर्वोच्च स्तर तक पहुंच गया.

भारत ने वित्त वर्ष 2021-22 में रिकॉर्ड 418 अरब डॉलर का निर्यात किया

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पेट्रोलियम उत्पाद, इंजीनियरिंग वस्तुओं, रत्न एवं आभूषण और रसायन क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन से वित्त वर्ष 2021-22 में भारत का वस्तुओं का निर्यात 418 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को वित्त वर्ष 2021-22 के व्यापार आंकड़े जारी करते हुए यह जानकारी दी. इन आंकड़ों के अनुसार, मार्च, 2022 में देश ने 40 अरब डॉलर का निर्यात किया जो एक महीने में निर्यात का सर्वोच्च स्तर है. इसके पहले मार्च, 2021 में निर्यात का आंकड़ा 34 अरब डॉलर रहा था.

आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2021-22 के दौरान भारत का वस्तु व्यापार (निर्यात एवं आयात) एक खरब डॉलर के पार चला गया क्योंकि देश का आयात भी 610 अरब डॉलर के अब तक के सर्वोच्च स्तर तक पहुंच गया. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, भारत ने वित्त वर्ष 2020-21 में 292 अरब डॉलर का निर्यात किया था. वर्ष 2021-22 में निर्यात आंकड़ा बड़ी बढ़त के साथ 418 अरब डॉलर पर पहुंच गया है. गत 23 मार्च को देश ने 400 अरब डॉलर के निर्यात आंकड़े को पार कर लिया था. गोयल ने संवाददाताओं से कहा कि इस वित्त वर्ष में भारत ने सबसे ज्यादा अमेरिका को निर्यात किया और उसके बाद संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), चीन, बांग्लादेश एवं नीदरलैंड का स्थान रहा.

उन्होंने कहा, 'भारत से वस्तुओं का निर्यात चालू वित्त वर्ष में 417.8 अरब डॉलर पर पहुंच गया. इस आंकड़े में गैर-ईडीआई बंदरगाह से निर्यात के आंकड़े शामिल नहीं हैं और उसे जोड़ने पर निर्यात का पूरा आंकड़ा 418 अरब डॉलर के पार हो जाने की उम्मीद है. यह भारत के निर्यात इतिहास का सर्वकालिक उच्च स्तर है.' गोयल ने कहा कि निर्यातकों एवं उद्योग संगठनों की कोशिशों, विभिन्न विभागों के बीच तालमेल और राज्य सरकारों के प्रयासों ने इस उपलब्धि तक पहुंचाने में योगदान दिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अप्रैल 2021- मार्च 2022 के दौरान निर्यात में दर्ज की गई इस सकारात्मक वृद्धि में पेट्रोलियम, सूती धागा एवं कपड़े, हथकरघा, रत्न एवं आभूषण, इंजीनियरिंग उत्पाद, इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद, चमड़ा, रसायन, प्लास्टिक और समुद्री उत्पादों का अहम योगदान रहा है. गोयल ने कहा कि खासकर विकसित देशों को होने वाले निर्यात में अच्छी खासी बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा, 'कोविड महामारी की कई लहरों के दौरान उत्पन्न चुनौतियों के बावजूद भारत का वस्तु निर्यात प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है. इस वित्त वर्ष के सभी 12 महीनों में निर्यात 30 अरब डॉलर से अधिक ही रहा है.' आलोच्य अवधि में कृषि उत्पादों का निर्यात 48 अरब डॉलर रहा है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)