पटना शेल्टर होम कांड : एनजीओ संचालकों से पूछताछ शुरू, ब्रजेश ठाकुर से भी थे संबंध!

बिहार पुलीस ने राजधानी पटना के आसरा गृह को चलाने वाले एनजीओ के संचालक चिरंतन कुमार और मनीषा दयाल को अब रिमांड पर लिया है.

पटना शेल्टर होम कांड : एनजीओ संचालकों से पूछताछ शुरू, ब्रजेश ठाकुर से भी थे संबंध!

पुलिस ने मामले में छानबीन तेज कर दी है.

पटना:

बिहार पुलीस ने राजधानी पटना के आसरा गृह को चलाने वाले एनजीओ के संचालक चिरंतन कुमार और मनीषा दयाल को अब रिमांड पर लिया है. दोनो को कई राजनेताओं, प्रशासनिक अधिकारियों, आईपीएस अधिकारियों और समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों का वरदहस्त प्राप्त था. मनीषा आरजेडी के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी की दूर की रिश्तेदार है. इसी वजह से उसके कार्यक्रमों में जनता दल यूनाइटेड के नेता श्याम रज़क से लेकर भाजपा के विनोद नारायण झा तक शामिल होते थे. पुलीस का कहना हैं कि पटना के आसरा गृह में मुजफ़्फ़रपुर की तरह सेक्स स्कैंडल नहीं बल्कि लापरवाही का मामला है.  मानसिक रूप से विक्षिप्त लोगों की देखभाल के लिए एनजीओ ने सरकार से ये ठेका तो ले लिया लेकिन पैसे बचाने के चक्कर में जिस तरह के अनुभवी लोगों को नियुक्त करना चाहिए था वैसा नहीं हुआ.

पटना : दो संवासिनियों की मौत के मामले में एनजीओ के सचिव और कोषाध्यक्ष गिरफ्तार 

दूसरी तरफ, बताया जा रहा है कि मनीषा दयाल का मुज़फ़्फ़रपुर कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर से भी संबंध रहा है. ब्रजेश के अख़बार में मनीषा के कार्यक्रमों को काफी प्रमुखता से छापा जाता था. आपको बता दें कि पटना शहर के राजीवनगर थाना अंतर्गत नेपाली नगर में संचालित एक शेल्टर होम में एक लड़की सहित दो महिलाओं की संदिग्ध मौत हो गई थी. समाज कल्याण विभाग के निदेशक राजकुमार ने बताया था कि गत 10 अगस्त की शाम में उक्त आश्रय गृह में रह रही दो महिलाओं (उम्र 17 और 40 साल) की तबीयत अचानक खराब (एक को डायरिया और दूसरे को बुखार) होने पर अतिरिक्त निदेशक, बाल संरक्षण कामत ने उन्हें इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज भेजा था. हालांकि अभी भी मौत में कई पेंच नजर आ रहे हैं. 

पटना के शेल्टर होम में एक लड़की सहित दो महिलाओं की संदिग्ध मौत, संचालक गिरफ्तार  

VIDEO:शेल्टर होम में महिलाओं की मौत के मामले में एनजीओ के सचिव और कोषाध्यक्ष गिरफ्तार


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com