''दुर्योधन, दुशासन को नहीं चाहते'': ममता बनर्जी का BJP पर ताजा 'वार'

इस दौरान ममता ने अपने पुराने सहयोगी शुभेंद्र अधिकारी को भी आड़े हाथ लिया जिन्‍होंने दिसंबर में बीजेपी ज्‍वॉइन कर ली है. ममता ने आरोप लगाया कि उनके साथ तब धोखा हुआ जब उन्‍होंने किसी पर पूरी तरह से भरोसा किया.

''दुर्योधन, दुशासन को नहीं चाहते'': ममता बनर्जी का BJP पर ताजा 'वार'

पैर में चोट के बावजूद ममता बनर्जी प्रचार कार्य में जुटी हुई हैं

नई दिल्ली:

West Bengal Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपने प्रचार अभियान को गति देते हुए पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राज्‍य का दौरा कर रहे बीजेपी नेताओं पर निशाना साधते हुए 'दुर्योधन और दुशासन' का जिक्र किया. ममता ने अपने पूर्व सहयोगी और इस बार विधानसभा चुनाव में उनके (ममता के) खिलाफ उम्‍मीदवार शुभेंदु अधिकारी को 'मीर जाफर' करार दिया. ईस्‍ट मिदनापुर में एक रैली को संबोधित करते हुए ममता ने कहा, 'बीजेपी (BJP) को विदा कीजिए. हम बीजेपी नहीं चाहते. हम मोदी का चेहरा नहीं देखना चाहते. हम दंगे, लुटेरे, दुर्योधन, दुशासन...मीर जाफर नहीं चाहते.' पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा, '27 मार्च को 'खेला होबे. बीजेपी को तो 'आउट' होना है.'

बंगाल BJP में भितरघात? कहीं कैंडिडेट के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन, तोड़फोड़ तो कहीं प्रत्याशी ने लौटाए टिकट

इस दौरान ममता ने अपने पुराने सहयोगी शुभेंद्र अधिकारी को भी आड़े हाथ लिया जिन्‍होंने दिसंबर में बीजेपी ज्‍वॉइन कर ली है. ममता ने आरोप लगाया कि उनके साथ तब धोखा हुआ जब उन्‍होंने किसी पर पूरी तरह से भरोसा किया. ममता ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा जिन्‍होंने 'दीदी' के 'खेला होबे'  के स्‍लोगन का 'मजाक' बनाया था. ममता ने कहा, 'मोदी Teleprompter का इस्‍तेमाल करके कहते हैं-केमोन आचो बांग्‍ला (How are you Bangla), हम कहते हैं-भालो आचे Bengal is good).' सीएम ने कहा, 'पोरिबर्तन मेरा नारा है, आप मेरा नारा कैसे चुरा सकते हैं.'  


 BJP ने 157 प्रत्‍याशियों के नाम घोषित किए, 8 मुस्लिमों को भी दिया टिकट 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यीय विधानसभा के लिए 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच आठ चरणों में मतदान संपन्न होगा. पहले चरण के तहत राज्य के पांच जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को, दूसरे चरण के तहत चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर एक अप्रैल, तीसरे चरण के तहत 31 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैल, चौथे चरण के तहत पांच जिलों की 44 सीटों पर 10 अप्रैल, पांचवें चरण के तहत छह जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल, छठे चरण के तहत चार जिलों की 43 सीटों पर 22 अप्रैल, सातवें चरण के तहत पांच जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और आठवें चरण के तहत चार जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होगा.