कोविड: 6 से 8 महीने में आ सकती है तीसरी लहर, गणितीय मॉडल यूज करनेवाले वैज्ञानिक ने चेताया

आईआईटी हैदराबाद के प्रोफेसर विद्यासागर ने कहा, ‘‘यदि एंटीबॉडी समाप्त हो जाती है, तो प्रतिरोधी क्षमता कम होने की आशंका है. ऐसे में टीकाकरण बढ़ाया जाना चाहिए और कोविड-19 को फैलने से रोकने में मददगार नियमों का पालन किया जाना चाहिए.

कोविड: 6 से 8 महीने में आ सकती है तीसरी लहर, गणितीय मॉडल यूज करनेवाले वैज्ञानिक ने चेताया

वैज्ञानिक ने कहा कि ऐसे में टीकाकरण बढ़ाया जाना चाहिए और कोविड-19 को रोकने में नियमों का पालन होना चाहिए.

नई दिल्ली:

कोविड-19 (Coronavirus) संक्रमण संबंधी अनुमान जताने के लिए गणित का इस्तेमाल करने वाले सूत्र मॉडल से जुड़े वैज्ञानिक एम विद्यासागर ने कहा कि यदि देश में टीकाकरण अभियान तेज नहीं किया गया और कोविड-19 से निपटने के लिए आवश्यक नियमों का पालन नहीं किया गया, तो आगामी छह से आठ महीने में कोविड की तीसरी लहर आने की आशंका है.

विद्यासागर ने इसके साथ ही कहा कि सूत्र मॉडल में किसी तीसरी लहर की संभावना नहीं जताई गई हैं और इस पर काम किया जा रहा है.

प्रज्ञा ठाकुर के गोमूत्र वाले बयान पर सियासत, कांग्रेस MLA ने स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से पूछ लिया सवाल

आईआईटी हैदराबाद के प्रोफेसर विद्यासागर ने कहा, ‘‘यदि एंटीबॉडी समाप्त हो जाती है, तो प्रतिरोधी क्षमता कम होने की आशंका है. ऐसे में टीकाकरण बढ़ाया जाना चाहिए और कोविड-19 को फैलने से रोकने में मददगार नियमों का पालन किया जाना चाहिए. यदि ऐसा नहीं होता है, तो छह से आठ महीने में तीसरी लहर आने की आशंका है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत समेत दुनियाभर के 180 से ज्यादा देशों को कोरोनावायरस (Coronavirus) ने अपनी जद में लिया है. अभी तक 16.42 करोड़ से ज्यादा लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. यह वायरस 34.03 लाख से ज्यादा संक्रमितों की जिंदगी छीन चुका है. भारत (Coronavirus India Report) के कुछ राज्यों में एक बार फिर कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. महाराष्ट्र इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)