'वैक्सीन का अंतर घटाएं, 15 की उम्र में टीका दें, और...' - Omicron के खतरे के बीच आदित्य ठाकरे ने दिए 3 सुझाव

Omicron के बढ़ते खतरे के बीच महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने केंद्र को कुछ सुझाव भेजे हैं. उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन के दोनों डोज़ के बीच के अंतर को और घटाकर कम किया जाए, देश में बूस्टर शॉट दिए जाने की अनुमति दी जाए और टीकाकरण की न्यूनतम आयु 15 साल कर दी जाए.

'वैक्सीन का अंतर घटाएं, 15 की उम्र में टीका दें, और...' - Omicron के खतरे के बीच आदित्य ठाकरे ने दिए 3 सुझाव

आदित्य ठाकरे ने Omicron के खतरे के बीच केंद्र सरकार को भेजे 3 सुझाव. (फाइल फोटो)

मुंबई:

देशभर में कोरोनावायरस के नए वेरिएंट Omicron के बढ़ते खतरे के बीच वायरस के खिलाफ ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा हासिल की जा सके, इसके लिए महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने केंद्र को कुछ सुझाव भेजे हैं. ओमिक्रॉन के खतरे का हवाला देते हुए ठाकरे ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवीय को एक चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने सुझाव दिया है कि केंद्र को कोविड के खिलाफ लगाई जा रहीं वैक्सीन के दोनों डोज़ के बीच के अंतर को और घटाकर 4 हफ्ता किया जाए.

इसके साथ ही उन्होंने इसमें दो और सुझाव दिए हैं- देश में बूस्टर शॉट दिए जाने की अनुमति देना और टीकाकरण की न्यूनतम आयु 15 साल करना.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के नाम लिखी गई चिट्ठी में ये सुझाव देते हुए आदित्य ठाकरे ने डॉक्टरों से अपनी बातचीत का हवाला दिया है. उन्होंने कहा है कि कोविड के इस नए वेरिएंट के प्रसार के डर के बीच लोगों को सुरक्षित रखने के लिए ये कदम उठाने जरूरी हैं.

ये भी पढ़ें  : Omicron - महाराष्ट्र में नहीं मिल रहे विदेश से लौटे 109 लोग, मोबाइल फोन बंद, घरों पर लगे हैं ताले

ठाकरे ने अपनी चिट्ठी में कहा है कि जिन फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स को इस साल की शुरुआत में वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू होने पर सबसे पहले कोविड वैक्सीन दी गई थी, उन्हें 'तैयारी के साथ उनकी इच्छा के अनुसार तीसरा शॉट दिया जाए.' वहीं, उन्होंने सेकेंडरी स्कूल और जूनियर कॉलेज में पढ़ रहे किशोरों के वैक्सीनेशन की वकालत करते हुए टीकाकरण की न्यूनतम आयु 15 साल करने का भी सुझाव दिया.

शिवसेना नेता ठाकरे ने कहा है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेशन ड्राइव में कवर करने के लिए वैक्सीन की दोनों डोज़ के बीच के अंतर को कम किया जाना चाहिए. उन्होंने बताया कि मुंबई में पहली वैक्सीन लगवाने के योग्य सभी लोगों को वैक्सीन लग चुकी है, वहीं अबतक 73 फीसदी लोग दूसरी डोज़ ले चुके हैं.


उन्होंने कहा कि 'अगर दोनों डोज़ के बीच के गैप को चार हफ्ता कर दिया जाता है, तो शहर में जनवरी, 2022 के मध्य तक ज्यादा वैक्सीन मांगे और डिलीवरी शेड्यूल में कोई बदलाव किए बिना सेकेंड डोज भी सभी को दे दी जाएगी.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : ओमिक्रॉन को लेकर तैयारियां तेज, 9 एकड़ में फैला है मुंबई के मलाड का जंबो सेंटर